Navratra News; नवरात्र के आठवें दिन देवी महागौरी को मनाया

Navratra News; नवरात्र के आठवें दिन देवी महागौरी को मनाया
Navratra News; नवरात्र के आठवें दिन देवी महागौरी को मनाया

Sunil Mishra | Updated: 06 Oct 2019, 10:08:30 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

दुर्गाष्टमी पर मंदिरों एवं घरों में हुए हवन, अनुष्ठान
देवी के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा किसी भी अनिष्ठ को टालने के लिए की जाती है


सिलवासा. नवरात्र की दुर्गाष्टमी पर रविवार को मंदिरों एवं सार्वजनिक मंडलों में पूजा अर्चना, आरती सहित विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम आयोजित हुए। गायत्री मंदिर में समूह में पूजन, हवन, दुर्गापाठ एवं महाआरती की गई। सार्वजनिक पंडालों में जाप अनुष्ठान एवं हवनादि संपन्न हुए। घरों में दुर्गाष्टमी पर यजमानों ने भिखारियों को प्रसाद व सफेद वस्त्र दान किए। कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोजन कराया गया।

Navratri 2019-ऐसे करें महागौरी की पूजा, सारे पापों से मिल जायेगी मुक्ति

नवरात्र के आखिरी दिन मां सिद्धिदात्री को 9 संतरे का लगाएं भोग, फिर देखें कमाल

Navratra News; नवरात्र के आठवें दिन देवी महागौरी को मनाया

Read ; शारदीय नवरात्रि : देवी कवच के पाठ से रक्षा के साथ हर कामना पूरी करती है माँ जगदंबा

शारदीय नवरात्र में दुर्गा अष्टमी का विशेष महत्त्व
शारदीय नवरात्र में दुर्गा अष्टमी का विशेष महत्त्व है। देवी के आठवें स्वरूप महागौरी की पूजा किसी भी अनिष्ठ को टालने के लिए की जाती है। मंडलों में आयोजकों ने मां की प्रतिमा के सामने धूप, दीप, अगरबत्ती, हल्दी, केसर, कुमकुम से रंगे चावल, इलायची, लौंग, काजू, पिस्ता, बादाम, गुलाब के फूल, चारौली, नारियल, गंगा जल, काले चने और घी का प्रसाद चढ़ाकर स्त्रोत पाठ, यज्ञ-हवन व अनुष्ठान किए। सरस्वती मंडल ने सामूहिक हवन रखा, जिसमें पंडितों की उपस्थिति में श्रद्धालुओं ने देवी के मंत्रों का उच्चारण करते हुए आहुति प्रदान की। पंचायत मार्केट सार्वजनिक नवरात्र महोत्सव में अष्टमी पर विशेष पूजा और धार्मिक अनुष्ठान हुए। किलवणी नाका पर मां के दर्शनों के लिए विभिन्न क्षेत्रों से श्रद्धालु पहुंचे। दुर्गा मैया के दरबार में भजन:कीर्तन, अनुष्ठान, आरती एवं महाप्रसाद रखा गया। प्रवासी संघ ने11 फीट की मूर्ति की पूजा की। पूजा के कारण दिनभर श्रद्धालुओं का मेला लगा रहा।

Navratra News; अष्टमी पर हवन-पूजन, मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु

नवरात्रि के आखिरी दिन विधि विधान से करें मां सिद्धिदात्री माता की पूजा अर्चना

आदिशक्ति की पूजा विधि विधान से
अष्टमी पर गांवों में भी आदिशक्ति की पूजा विधि विधान से हुई। बिन्द्राबीन गायत्री मंदिर में पूजा-अर्चना व हवन के बाद भक्तों को तिलक लगाकार प्रसाद वितरित किया। अर्चना से पहले पुष्प, धूप, दीपक व नैवेद्य लगाकर जाप किए। महिलाओं ने काले चने, खीर एवं घी का प्रसाद चढ़ाकर दुर्गा पाठ किया। घरों में श्रद्धालुओं ने उपवास रखकर पाठ, जाप के अधिष्ठात्री देवी का मनवार किया। नवमी और विजयदशमी पर फूलों की मांग को देखते हुए व्यापारियों ने सडक़ों पर फूलों की दुकानें लगा ली हैं। पंचायत मार्केट, झंडा चौक, किलवणी नाका, टोकरखाड़ा में फूलों के ढेर से सडक़ें सज गई हैं। किसान फुलवारी से फूल एकत्र करने लगे हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned