ग्रे का कारोबार ठंडा, वीवर्स के पास ग्रे का स्टॉक

ग्रे का कारोबार ठंडा, वीवर्स के पास ग्रे का स्टॉक

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Oct, 14 2018 07:28:32 PM (IST) Surat, Gujarat, India

वीवर्स ने ज्यादातर क्वॉलिटी में दाम यथावत रखे

सूरत

ग्रे बाजार में पिछले सप्ताह कारोबार ठंडा रहा। नीरस माहौल को देखते हुए वीवर्स ने ज्यादातर क्वॉलिटी में दाम यथावत रखे। वीवर्स के पास ग्रे का स्टॉक हो गया है।
ग्रे बाजार के सूत्रों के अनुसार त्योहार की ज्यादातर खरीद हो जाने के कारण अब व्यापारियों की ओर से ग्रे की तमाम क्वॉलिटी में खरीद कमजोर है। साड़ी और ड्रेस, दोनों सेगमेंट में व्यापारियों ने पिछले दिनों ही ज्यादातर खरीद कर ली थी, इसलिए अब वह आवश्यकतानुसार खरीद कर रहे हैं। हालात को देखते हुए वीवर्स ने दाम यथावत रखे। कपड़ा व्यवसायी सज्जन महर्षि और रमेश शर्मा के अनुसार ग्रे बाजार में खरीद कमजोर है। पिछले तीन सप्ताह से ग्रे की तमाम क्वॉलिटी के दाम निचली सतह पर स्थिर हैं। आर्थिक तरलता के अभाव में व्यापारी परेशान हैं। भिवंडी ग्रे बाजार में भी पिछले हफ्ते खरीद सामान्य रही। ग्रे व्यवसायी राकेश अग्रवाल ने बताया कि ग्रे बाजार में तमाम क्वॉलिटी में दाम स्थिर रहे। व्यापारियों की ओर से खरीद मध्यम रही। सर्दी के कपड़ों के लिए आवश्यक ग्रे की बिक्री जरूर अच्छी है।
यार्न के दाम स्थिर

file

ग्रे बाजार ठंडा होने के कारण यार्न बाजार में भी बीते सप्ताह कामकाज ठंडा रहा। वीवर्स की ओर से यार्न की खरीद पर ब्रेक लगने से यार्न उत्पादकों ने दाम स्थिर रखे। दिवाली तक यार्न की कीमत स्थिर रहने की संभावना है। यार्न बाजार के सूत्रों के अनुसार अन्य राज्यों से कम ऑर्डर मिलने के कारण स्थानीय बाजार में साड़ी और ड्रेस मटीरियल्स की सामान्य खरीद से वीवर्स यार्न की कम खरीद कर रहे हैं। ऐसे में यार्न उत्पादकों ने कीमत स्थिर रखी। पहले डॉलर और यार्न के कच्चे माल एमइजी तथा पीटीए की कीमत बढऩे के कारण यार्न के दाम बढ़े थे। यार्न व्यवसायी बकुल पंड्या और फोरम घीवाला ने बताया कि बीते सप्ताह यार्न की तमाम क्वॉलिटी में दाम स्थिर रहे। वीवर्स यार्न की खरीद कम कर रहे हैं। आगामी दिनों में भी खरीद सामान्य रहने के आसार हैं। समय पर पेमेंट नहीं आने के कारण व्यवसायी चिंतित हैं। पिछले सप्ताह यार्न व्यवसायियों की मीटिंग में चीटर व्यापारियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराने का फैसला किया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned