प्रवासी राजस्थानियों के साथ बढऩे लगा मेल-मिलाप

राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. पूनिया ने वीडिय़ो कांफ्रेंस के जरिए जाने प्रवासियों के हाल

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 23 May 2020, 08:42 PM IST

सूरत. लॉकडाउन के दौरान सूरत समेत गुजरात व देश के अन्य महानगरों में बसे प्रवासी राजस्थानियों के साथ राजस्थान के नेताओं का मेल-मिलाप बढऩे लगा है। राजस्थान भाजपा प्रदेश इकाई के अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने शुक्रवार रात सूरत में अपने निकटस्थ लोगों के साथ वीडिय़ो कांफ्रेंस के जरिए बातचीत की और हाल-चाल जाने।
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए घोषित लॉकडाउन की लगातार बढ़ती मियाद और बंद काम-काज को ध्यान में रख पिछले दिनों हजारों प्रवासी राजस्थानी घर लौटे थे। इस दौरान उन्हें राजस्थान व गुजरात सरकार के बीच तालमेल के अभाव में एक नहीं अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। हालांकि बाद में दिन बीतने पर स्थिति सामान्य बनी, लेकिन तब तक हजारों प्रवासियों को घर पहुंचने में काफी परेशानियां उठानी पड़ चुकी थी। राजस्थान प्रदेश की भाजपा व कांग्रेस इकाई दोनों का ही सूरत व गुजरात समेत देश के अन्य महानगरों में बसे प्रवासी राजस्थानियों के साथ सीधा सम्पर्क है, लेकिन उस दौरान दोनों ही पार्टियों की तरफ से प्रवासियों के प्रति संवेदनात्मक रवैये का अभाव रहा। देर आए दुरुस्त आए की तर्ज पर प्रदेश भाजपा इकाई प्रवासियों से सम्पर्क साधने लगी है और शुक्रवार रात राजस्थान भाजपा प्रदेश इकाई के अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने वीडिय़ो कांफ्रेंस के जरिए सूरत में उनके परिचित प्रवासियों के साथ बातचीत की और हाल-चाल जाने।


राजस्थान-गुजरात की दी जानकारी


लॉकडाउन के दौरान सूरत समेत आसपास में प्रवासी राजस्थानियों के विभिन्न संगठनों की ओर से जारी सेवा गतिविधि समेत अन्य जानकारी वीसी में शामिल प्रवासियों ने दी। वहीं, राजस्थान में भाजपा की ओर से लॉकडाउन में की गई सेवा गतिविधि समेत अन्य कार्यों के बारे में डॉ. पूनिया ने बताते हुए सूरत में प्रवासी राजस्थानियों की सेवा गतिविधि की सराहना की और इस जज्बे को सदैव बनाए रखने की बात कही।

प्रवासी संगठन को दें मजबूती

वीडिय़ो कांफ्रेंस में सूरत समेत देश के अन्य महानगरों में बसे प्रवासी राजस्थानियों के बीच राजस्थान भाजपा इकाई के प्रवासी संगठन को मजबूती देने की बात भी पुरजोर से चली। इसमें बताया गया कि सूरत समेत सभी महानगरों में ऐसा संगठन होना चाहिए जो कि परदेस में बसे प्रवासी राजस्थानियों की राजस्थान संबंधी अच्छे-बुरे की जानकारी वहां दे सकें और उसका सुखद हल मिल सकें। इसे डॉ. पूनिया ने विचारणीय भी बताया।

पत्रिका ने उठाई थी आवाज

राजस्थान लौटते प्रवासी राजस्थानियों को पिछले दिनों राजस्थान में मावल, रतनपुर, डुंगरपुर आदि बॉर्डर पहुंचने पर आई दिक्कतों के बारे में राजस्थान पत्रिका ने खबरों के माध्यम से जमकर आवाज उठाई। उसका परिणाम भी निकला और राजस्थान सरकार प्रवासियों की वापसी में तरह-तरह के नियम लगाने की प्रवृत्ति को रोकी तो उधर भाजपा ने भी अपनी ओर से प्रवासियों के लौटने में आ रही अड़चनों को दूर करने में सकारात्मक रवैया अपनाया।

यह फॉर्मल वीसी थी

सूरत में कई चिर-परिचित रहते हैं और लॉकडाउन में वे लगातार सेवा गतिविधि में सक्रिय है। उनसे सम्पर्क के लिए यह फॉर्मल वीसी थी। भविष्य में अन्य कई आवश्यक विषयों पर पार्टी फॉरम पर भी प्रवासियों के साथ चर्चा का दौर चलता रहेगा।
डॉ. सतीश पूनिया, अध्यक्ष, राजस्थान भाजपा प्रदेश इकाई।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned