gst news- ऐसा किया तो जीएसटी अधिकारी कर सकते हैं आप की धरपकड़!!!

जीएसटी ने जब्त की संपत्ति रिलीज करने के लिए लगा सकते हैं गुहार, चैम्बर ऑफ कॉमर्स में जीएसटी पर पैनल चर्चा संपन्न

सूरत
चैम्बर ऑफ कॉमर्स में शनिवार को जीएसटी के नियमों पर आयोजित पैनल चर्चा के दौरान मुख्य वक्ता कल्पेश शाह ने जीएसटी के सिलसिले में कोर्ट में आए कई फैसलों की जानकारी दी।
शाह ने बताया कि करदाता ने यदि पांच करोड़ रुपए से अधिक गुड्स की अनियमित क्रेडिट ली हो तो ऐसे मामले में जीएसटी अधिकारी करदाता की धरपकड़ कर सकते हैं। हालाकि जमानत पर वहीं छोडऩे का भी प्रावधान है। ऐसे मामलों में अधिकारी करदाता की संपत्ति जब्त कर लेते हैं। ज्यादातर मामलों में अधिकारी रेकोर्ड बुक, फायानान्सिय रिपोर्ट, आदि जब्त करते हैं। शाह ने हाइकोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए बताया कि करदाता को रेकोर्ड बुक और फायनान्सियल रिपोर्ट वपिस मिल सकता है। करदाता चाहे तो जब्त संपत्ति के लिए कोर्ट में गुहार लगा सकता है। अलाहाबाद कोर्ट में ऐसे कई मामले आए हैं।
अन्य एक वक्ता जिगर शाह ने बताया कि यदि किसी व्यापारी की ऑफिस सूरत में हो और उसे महाराष्ट्र में माल भेजना हो तो उसे आईजीएसटी चुकाना होगा और सूरत में से गुजरात में किसी स्थान पर माल भेजना हो तो सीजीएसटी चुकाना होता है।
पैनल चर्चा के दौरान चैम्बर की जीएसटी कमेटी के को-चेयरमैन रोहन देसाई, जीएसटी कमेटी के एडवाइजर किशोर घीवाला और रिप्रेजेन्टेशन सेल के हेड हेमंत देसाई उपस्थित रहे।

Pradeep Mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned