संगठनात्मक ढांचे में गुजरात भाजपा फिर बनेगी प्रयोगशाला

सप्ताह के पहले दो दिन सरकारी मंत्रियों के पार्टी कार्यालय पहुंचकर सुनवाई से हो गई शुरुआत

 

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 24 Aug 2020, 09:39 PM IST

सूरत. चाल, चरित्र व चेहरा और पार्टी विद डिफरेंस, एकात्म मानववाद जैसे कई सूत्र व अवधारणा के साथ आगे बढ़ रही और थोड़े ही समय में विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन चुकी भाजपा ने अब संगठन व सत्ता के बीच तालमेल की कडिय़ां मजबूत करने का नया प्रयोग अपनाया है। पार्टी का यह प्रयोग भी देशभर में राज्यस्तर पर गुजरात से शुरू किया गया है और इसका श्रेय हाल ही में प्रदेश के नवनियुक्त अध्यक्ष सीआर पाटिल को मिला है।
लगातार ढाई दशक से गुजरात की जनता का विश्वास जीतती आ रही भाजपा प्रदेश इकाई ने पहले भी कई प्रयोग देशभर में पार्टी को अपनाने के लिए सौंपे हैं और इसमें सर्वाधिक योगदान मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का है। मोदी ने मुख्यमंत्री के रूप में 12 वर्ष 8 माह गुजरात की बागडोर संभाली और इस दौरान सत्ता में कई नए प्रयोग विभिन्न योजनाओं के माध्यम से किए वहीं, उनके कार्यकाल के दौरान ही तत्कालीन पार्टी संगठन ने भी कई विश्वसनीय प्रयोग किए थे और उन्हीं में से एक वन बूथ टेन यूथ शामिल था। जिसे देशभर में भाजपा ने गुजरात के बाद अपनाया और बूथ स्तर पर संगठन को मजबूती प्रदान की। इसके अलावा मोबाइल पर मिसकॉल से पार्टी के सदस्य बनने का प्रयोग भी गुजरात की ही देन थी जो कि बाद में देशभर में संगठन ने अपनाया और भाजपा के सदस्यों की संख्या दस करोड़ से अधिक हो गई।


वरिष्ठ मंत्री पटेल पहुंचे कार्यालय


नवनियुक्त भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल ने कुर्सी संभालते ही कई नए प्रयोग संगठन व सत्ता के बीच तालमेल बिठाकर चलने के उद्देश्य से घोषित कर दिए थे। उन्हीं में शामिल एक सरकार के मंत्री सप्ताह में सोमवार व मंगलवार को पार्टी कार्यालय में मौजूद रहकर पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्या को सुनेंगे। सोमवार को इस पर अमल शुरू भी हो गया और गुजरात सरकार के वरिष्ठ मंत्री कौशिक पटेल गांधीनगर में पार्टी मुख्यालय कमलम् पहुंचे और कार्यकर्ताओं को सुने। इस दौरान कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष पाटिल, संगठन महामंत्री भीखू दलसाणिया समेत अन्य पदाधिकारी व कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।


केंद्र ने अपनाया हुआ है यह फार्मूला


भाजपानीत केंद्र सरकार के केबिनेट, राज्य व स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री भाजपा संगठन के केंद्रीय नेतृत्व की तय नीति के तहत पार्टी के राष्ट्रीय मुख्यालय निर्धारित दिवस पर पहुंचते हैं और संगठन के पदाधिकारियों व वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ कई मसलों पर चर्चा करते हैं। केंद्र के बाद इस प्रयोग को राज्य स्तर पर संगठन व सरकार के बीच अपनाने में गुजरात सोमवार को अव्वल बना है। कई प्रदेशों में संगठन व सरकार के बीच तालमेल का अभाव होने से कार्यकर्ताओं में असंतोष उभरता है और हाल ही में राजस्थान की उठापटक उसका बड़ा परिणाम कही जा सकती है।


आईटी सेल व नवसारी-25 एप


गुजरात भाजपा ने वन बूथ टेन यूथ के अलावा सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर संगठन व सत्ता की मजबूती के लिए आईटी सेल की फौज खड़ी की थी जिसे भी देशभर में अपनाया गया। प्रदेश में गांव-कस्बे स्तर पर आईटी सेल गठित है। इसी तरह से प्रदेशाध्यक्ष सीआर पाटिल के निर्वाचन क्षेत्र नवसारी लोकसभा सीट-25 में उन्हीं की देखरेख में काफी समय पहले तैयार नवसारी-25 एप भी सत्ता व संगठन के बीच तालमेल बिठाने का कार्य क्षेत्र में कर रही है। कार्यकर्ता एप के माध्यम से सभी सरकारी योजनाएं जरुरतमंदों तक बड़ी आसानी से पहुंचा देते हैं।


लिखित में मिलेगा कार्यकर्ताओं को जवाब


मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री का आभार। उन्होंने संगठन की पहल पर पार्टी कार्यकर्ताओं की समस्या और उनके निराकरण के लिए वरिष्ठ मंत्री को पार्टी मुख्यालय भेज मजबूत शुरुआत की है। कार्यकर्ताओं को उनकी समस्या के निराकरण के जवाब भी लिखित में मिलेंगे।
सीआर पाटिल, अध्यक्ष, भाजपा गुजरात प्रदेश इकाई।

Show More
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned