गुजरात का पहला विश्वविद्यालय जो देगा सभी विद्यार्थियों को बीमा सुविधा

- 2 लाख 50 हजार से अधिक विद्यार्थियों को मिलेगी बीमा सुरक्षा
- सिंडिकेट ने प्रस्ताव किया पास, बीमा के लिए विवि को मिला दाता

By: Divyesh Kumar Sondarva

Published: 14 Sep 2021, 02:20 PM IST

सूरत.
वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय गुजरात का पहला ऐसा विश्वविद्यालय बनने जा रहा है जो अपने सभी विद्यार्थियों का बीमा करवाएगा। सभी कॉलेज व विभागों के 2 लाख 50 हजार से अधिक विद्यार्थियों को बीमा सुरक्षा दी जाएगी। इसके लिए सिंडिकेट में प्रस्ताव भी पास हो गया है। साथ ही बीमा के लिए विश्वविद्यालय को दाता भी मिल गया है।
कई विद्यार्थी दुर्घटना के शिकार हो जाते है। ऐसे में उनकी जान भी चली जाती है। या फिर दुर्घटना के कारण उन्हें शरीर का कोई अंग भी खोना पड़ता है। भूतकाल में कई ऐसी घटना बनी है जिनमें कॉलेज जाते समय स्कूल जाते समय विद्यार्थी दुर्घटना का शिकार हुआ हो और उसकी जान चली गई हो। ऐसे मामलो में कई विद्यार्थियों का बीमा नही होता है। परिवार का अनमोल सदस्य को जाता है साथ ने बीमा नही होने के कारण परिवार को आर्थिक नुकसान भी होता है। कई विद्यार्थियों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के करना वो बीमा नही ले सकते है। इसलिए वीएनएसजीयू ने अपने सभी विद्यार्थियों का बीमा करने का तय किया है। इस प्रस्ताव को सिंडिकेट ने भी पास कर दिया है। इन दिनों वीएनएसजीयू में प्रवेश प्रक्रिया चल रही है। प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण होते ही विभिन्न पाठ्यक्रम में एनरोलमेंट करने वाले विद्यार्थियों की सही जानकारी मिल जाएगी। इसके बाद सभी का बीमा करवाया जायेगा। यह बीमा एक साल का होगा। हर साल बीमा करवाया जायेगा। इसमें यूजी और पीजी, पीएचडी, एमफिल के साथ सभी संकाय के विद्यार्थियों का एक साथ बीमा होगा। वीएनएसजीयू के साथ जितने भी कॉलेज जुड़े है उन सभी कॉलेज के विद्यार्थियों का बीमा करवाया जायेगा। सिंडिकेट सदस्य किरण घोघरी ने बताया की सभी विद्यार्थियों का बीमा करवाने वाला वीएनएसजीयू गुजरात का तो पहला विश्विद्यालय है, संभव यह भारत का भी पहला विश्वविद्यालय होगा। बीमा के लिए दाता भी मिल गया है। जो बीमा करवाने के लिए वीएनएसजीयू को दान देगा। इससे पहले वीएनएसजीयू के सभी खिलाड़ियों का बीमा करवाया गया है। आने वाले दिनों में वीएनएसजीयू के सभी कर्मचारियों का बीमा और मेडिक्लेम भी करवाया जायेगा।
--

Show More
Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned