हैल्मेट पहनाए और दिलाई शपथ

हैल्मेट पहनाए और दिलाई शपथ

Pradeep Mishra | Publish: Sep, 12 2018 09:37:54 PM (IST) Surat, Gujarat, India

सूरत टैक्सटाइल मार्केट में 300 हैल्मेट वितरण का कार्यक्रम

सूरत

साउथ गुजरात टैक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन की ओर से बुधवार को सूरत टैक्सटाइल मार्केट में 300 हैल्मेट वितरण का कार्यक्रम रखा गया था। मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित पुलिस कमिश्नर सतीष शर्मा ने कार्यक्रम में उपस्थित मार्केट क्षेत्र के श्रमिकों और दुकान के कर्मचारियों को हैल्मेट बांटे और सभी लोगों से बिना हैल्मेट बाइक नहीं चलाने की शपथ दिलाई। अंत में सबसे सभी व्यापारियों से अनुरोध किया कि वह नियम बनाए कि उनके कार्यालय में बिना हैल्मेट कोई नहीं आए। इस अवसर पर एडीशनल कमिश्रनर एच.आर.मालविया, डीसीपी सुधीर देसाई, एसीपी जाहिर शेख,एसजीटीटीए के प्रमुख सावर प्रसाद बुधिया, सचिव सुनील जैन, सूरत टैक्सटाइल मार्केट के प्रमख फूलचंद राठोड सहित कई व्यापारी उपस्थित रहे।

रफ डायमंड की कीमत बढी, पॉलिश्ड की स्थिर रहने से उद्यमी चिंतित

एक ओर डॉलर की कीमत सतत बढ़ रही होने से रफ हीरों की कीमत में भी उछाल आया है, लेकिन दूसरी ओर पॉलिश्ड हीरों की कीमत स्थिर रहने के कारण हीरा उद्यमी चिंतित है। उनका लाभ कम हो गया है। उद्यमियों का कहना है कि परिस्थिति नहीं सुधरी तो कारखाने बंद करने पडेंगे।
हीरा उद्योग के सूत्रों के अनुसार पिछले एक महीने से डॉलर की कीमत में उछाल आने के कारण विदेश से आयात की जाने वाले रफ हीरे की कीमत बढ़ी है। इसके अलावा रफ डायमंड कंपनी की ओर से भी दाम बढाए जाने के कारण हीरा उद्यमियों को दोगुनी मार पड़ रही है। विदेश से हीरे महंगी कीमत पर खरीदने के बाद भी उन्हें कोई लाभ नहीं मिल रहा। भारत और विदेश में कट और पॉलिश्ड हीरे तथा ज्वैलरी की मांग कमजोर होने के कारण हीरा व्यापारी ज्यादा कीमत पर हीरे खरीदने को तैयार नहीं। इसलिए हीरा उद्यमियों को अपना लाभ कम कर या उत्पादन कीमत पर ही हीरे बेचने पड़ रहे हैं। बड़े हीरा उद्यमी तो माल का स्टोक कर ले रहे हैं, लेकिन छोटे हीरा उद्यमियों के पास आर्थिक तरलता की कमी और श्रमिकों को वेतन देने की जिम्मेदारी के कारण वह कीमत पर ही सौदा कर ले रहे हैं। रफ हीरों की बढ़ी कीमत ने छोटे हीरा उद्यमियों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है।

Ad Block is Banned