हनुमान चालीसा संगीतमय अखण्ड पाठ कल

हनुमान चालीसा संगीतमय अखण्ड पाठ कल

Dinesh M Trivedi | Publish: Sep, 08 2018 12:50:56 PM (IST) Surat, Gujarat, India

श्रंगारित दरबार के समक्ष होगा पाठ

सूरत. श्री रामभक्त मंडल द्वारा रविवार को श्री हनुमान चालीसा का संगीतमय अखण्ड १०८ पाठ का आयोजन किया जाएगा। मंडल के सुनील माहेश्वरी ने बताया कि कार्यक्रम सिटीलाइट स्थित माहेश्वरी भवन पर सुबह आठ बजे दीप प्रज्ज्वलन के साथ होगा। उसके बाद आयोजक रामभक्त मंडल साढ़े आठ से दस बजे तक हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।

उसके बाद क्रमश: श्री माहेश्वरी सत्संग समिति, श्री रेलवे स्टेशन कुली हनुमान मंडल, श्री दाधीच महिला सुंदरकांड मंडल, श्री मॉडल टाउन मानस मंडल, श्रीश्री बालाजी सुंदरकांड मंडल, श्री श्याम सृष्टि सुंदरकांड मंडल एवं श्री सालासर मंडल हनुमत को रिझाएंगे। मनोज गुलाबवानी ने बताया कि इस अवसर पर बाबा के दरबार को श्रृंगारित कर सवामणी अर्पित की जाएगी। महाआरती तथा महाप्रसादी का भी आयोजन होगा।

अग्र मिलन की साप्ताहिक बैठक कल
सूरत. अग्र मिलन की अग्रवाल वैवाहिक परिचय के लिए १७वीं साप्ताहिक बैठक रविवार को सुबह सात से नौ बजे तक सिटीलाइट स्थित माहेश्वरी भवन पर होगी। कार्यक्रम में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, स्वास्थ्य जांच शिविर व पौधारोपण भी होगा। इसके अलावा विशेषज्ञ शिवचरण कलानोरिया एवं सत्यनारायण अग्रवाल पारिवारिक विषयों पर परिचर्चा करेंगे।

पर्युषण महापर्व का शुभारंभ खाद्य संयम के रूप में
सूरत. तेरापंथ भवन सिटीलाइट में साध्वी सरस्वती के सान्निध्य में पर्युषण महापर्व का शुभारम्भ खाद्य संयम दिवस के रूप में मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ साध्वी संवेगप्रभा ने नमस्कार महामंत्र से किया। उन्होंने श्रावक समाज को खाद्य संयम के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि संयम करो, स्वस्थ रहो। संतुलित व संयमित आहार ही स्वास्थ्य का राज है। अनियंत्रित व असंयमित आहार रोगों को आमंत्रित करता है। साध्वी नंदिता ने भी खाद्य संयम दिवस पर विचार प्रस्तुत किए। उन्होंने बताया कि जैन धर्म में हर आत्मा को परमात्मा बनने का अवसर प्राप्त होता है और आहार संयम ही हमारे स्वास्थ्य का बैरोमीटर है।

रामसा पीर मित्र मंडल पैदल यात्रा कल
सूरत. रामसा पीर मित्रमंडल गोडादरा की ओर से द्वितीय पद यात्रा रविवार सुबह रवाना होगी। सुबह ८.30 बजे भावना सोसायटी स्थित बाबोसा बालाजी मंदिर से बाबा रामदेव मन्दिर अलखधाम जाएगी। गाजे-बाजे के साथ बाबा की झांकी व विशाल ध्वजा लेकर रवाना होगी। रास्ते में जगह जगह अल्पाहार व भण्डारे की व्यवस्था की गई है।

Ad Block is Banned