HARIT PRADESH ABHIYAN: झमाझम के बीच डटे पर्यावरण के पहरेदार

तेज बारिश में भीगते हुए भी सूरत शहर को हरा-भरा करने के प्रति तत्पर है प्रवासी राजस्थानी

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 23 Aug 2020, 09:26 PM IST

सूरत. गुजरात की औद्योगिक राजधानी सूरत समेत दक्षिण गुजरात में एक सप्ताह से भारी बारिश का दौर जारी है और तेज बारिश व कोरोना महामारी के बीच भी पर्यावरण के पहरेदार हरित प्रदेश अभियान के प्रति पूरी मुस्तैदी के साथ डटे हुए हैं। इस दौरान उन्होंने रविवार को भी सुबह नियमित रूप से विभिन्न क्षेत्रों में पौधे रोपे।
यूं तो गुजरात में जून के तीसरे सप्ताह से मानसून की शुरुआत हो जाती है लेकिन, इस बार प्रदेश में मानसून का आगमन थोड़े विलम्ब से हुआ। इसके चलते पर्यावरण प्रेमी प्रवासी राजस्थानी युवक भी मानसून के सक्रिय होने के बाद पौधारोपण अभियान में सक्रिय हुए। राजस्थान पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान गत जुलाई माह से सूरत समेत जिलेभर में जारी है और इस दौरान सैकड़ों पौधे पर्यावरण प्रेमी संस्थाओं ने कोरोना महामारी के बीच लगाए है। राजस्थान पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान में सक्रिय सहयोगी लक्ष्मण प्रजापति ने बताया कि सप्ताह के छह दिन अभियान के दौरान शहर के गोडादरा, परवत पाटिया, मगोब, डुंभाल क्षेत्र में बरगद, नीम, पीपल, आसोपालव समेत अन्य पौधे व कलम रोपी गई। पौधारोपण अभियान में सातवें दिन रविवार सुबह मॉडलटाउन के पास बीआरटीएस जंक्शन के सामने 7 बरगद के पौधे व 35 कलम रोपी गई। शहर में गत दिनों से लगातार जारी तेज बारिश में भी पौधारोपण का अभियान पर्यावरण प्रेमी राजस्थानियों की ओर से चल रहा है। पौधारोपण के दौरान शिवरतन प्रजापति, लक्ष्मण प्रजापति, ब्रजगोपाल खंडेलवाल, रामकिशन चौधरी, अशोक प्रजापति, हनुमान प्रजापति समेत अन्य सदस्य मौजूद थे।

गिलोय का वितरण व रोपण


राजस्थान पत्रिका के हरित प्रदेश अभियान में सक्रिय ब्रजगोपाल खंडेलवाल ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों के बीच गिलोय ने खूब जगह बना ली है और सदस्यों ने इसे जगह-जगह रोपने के साथ-साथ इसका वितरण भी शुरू किया है ताकि लोग घरों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए गिलोय का काढ़ा बनाकर परिवार समेत पी सकें। रविवार को गिलोय की 71 कलम नीम के पौधों व पेड़ के पास रोपी गई है।


सूरत से राजस्थान तक पहुंचा अभियान


मानसून के दौरान सूरत में हरित प्रदेश अभियान में सक्रिय सदस्य व भारतीय कुमावत महासभा युवा प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कैलाश घोड़ावत, पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पुखराज कुमावत आदि ने राजस्थान जाकर भी पौधारोपण अभियान शुरू कर दिया है। कैलाश घोड़ावत ने बताया कि पाली जिले के निमाज कस्बे में सडक़ किनारे, सार्वजनिक स्थलों पर छांवदार पौधे रोपने का कार्यक्रम यहां पहुंचते ही स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ शुरू किया गया है।

HARIT PRADESH ABHIYAN: झमाझम के बीच डटे पर्यावरण के पहरेदार
Show More
Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned