Surat/ सीमी मामले में सुनवाई पूरी, फैसला 8 मार्च तक सुरक्षित

20 साल पहले नवसारी बाजार के राजेश्री हॉल में ऑल इंडिया माइनोरिटी एजुकेशन बोर्ड के बैनर तले प्रतिबंधित संघठन सीमी के कार्यकर्ता इकठ्ठे होने पर पुलिस ने अनलो फुल एक्टिविटी के उलंघन के आरोप में 124 जनों को किया था गिरफ्तार

By: Sandip Kumar N Pateel

Published: 17 Feb 2021, 01:09 PM IST

सूरत। 20 साल पुराने सीमी मामले में कोर्ट में सुनवाई पूरी हो गई। कोर्ट ने 8 मार्च तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

प्रकरण के अनुसार अठवा थाने के तत्कालीन पुलिस निरीक्षक एम. जे.पंचोली को 27 जनवरी, 2001 को गांधीनगर इंटेलिजेंस की ओर से एक फैक्स मिला था, जिसमें सूरत के राजेश्री हॉल में 30 जनवरी को प्रतिबंधित संघठन सीमी का एक सम्मेलन आयोजित होने की जानकारी दी गई थी, जिस कर कार्रवाई करते हुए राजेश्री हॉल में छापा मारकर देश के अलग अलग हिस्से से आए 124 लोगों को धरदबोचा था। पुलिस ने आरोपियों से कुछ संदिग्ध दस्तावेज भी जब्त किए थे। मामले की जांच पूरी कर पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट पेश की थी, लेकिन किसी न किसी कारण से सुनवाई में देरी हो रही थी। आखिर 20 साल बाद अभियोजन और बचाव पक्ष की अन्तिम दलीलें पेश होने के साथ सुनवाई पूरी हो गई है और कोर्ट ने 8 मार्च तक अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned