दिल है कि ज्यादा वसूली से मानता नहीं

ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के यात्रियों से रविवार को करंट टिकट बुकिंग कार्यालय के क्लर्क ने प्रति टिकट पंद्रह से पचास रुपए तक अधिक लिए। उत्तर भारतीय समाज क

By: मुकेश शर्मा

Published: 22 Aug 2017, 11:31 PM IST

सूरत।ताप्ती गंगा एक्सप्रेस के यात्रियों से रविवार को करंट टिकट बुकिंग कार्यालय के क्लर्क ने प्रति टिकट पंद्रह से पचास रुपए तक अधिक लिए। उत्तर भारतीय समाज के एक अग्रणी ने प्लेटफॉर्म तथा जनरल कोच में यात्रियों से पूछताछ की और वीडियो बनाया। इसमें अधिकतर यात्रियों ने ज्यादा रुपए लेने की बात कही। उन्होंने रेलवे शिकायत पुस्तिका में रिपोर्ट देकर और रेलवे पुलिस को आवेदन सौंपकर जांच की मांग की है।

सूरत-छपरा ताप्ती गंगा एक्सप्रेस सप्ताह में पांच दिन सोम, बुध, गुरु, शुक्र, रविवार, जबकि सूरत से भागलपुर जाने वाली सूरत-भागलपुर एक्सप्रेस शनि और मंगल को चलती है। सूरत तथा दक्षिण गुजरात में रहने वाले उत्तर प्रदेश और बिहार के लोग गांव जाने के लिए देर रात ही सूरत स्टेशन पहुंच जाते हैं। रात बारह बजे के बाद वह करंट टिकट बुकिंग कार्यालय पर कतार में लग जाते हैं। दोनों ट्रेन सुबह ९.३५ बजे सूरत से रवाना होती हैं। कुछ दिनों से शिकायत मिल रही थी कि करंट बुकिंग कार्यालय के क्लर्क प्रति यात्री 15 से पचास रुपए तक अधिक लेते हंै। उत्तर भारतीय समाज के अग्रणी राजनारायण मुनीन्द्र शुक्ला, शशि दुबे और रोशन मिश्रा मामले की जांच करने रविवार को सूरत स्टेशन पहुंचे।

उन्होंने करंट बुकिंग क्लर्क को जांचने के लिए करंट टिकट लिया। इनसे बुकिंग क्लर्क ने २७० रुपए के टिकट के लिए राउंड फिगर में तीन सौ रुपए ले लिए। यानी एक टिकट पर तीस रुपए अधिक लिए। इसके बाद राजनारायण, शशि और रोशन प्लेटफॉर्म संख्या चार पर पहुंचे। उन्होंने जनरल कोच में चढऩे के लिए कतार में खड़े यात्रियों से बुकिंग क्लर्क द्वारा अधिक रुपए लेने के बारे में पूछा। अधिकतर लोगों ने ज्यादा रुपए लेनेे की बात कबूल की। तीनों जनों ने जनरल कोच में बैठे यात्रियों से भी हकीकत जानने का प्रयास किया।

इस दौरान भी कई यात्रियों ने टिकट दर से ज्यादा रुपए लेने की बात कही। इन सभी की बातों को अग्रणियों की वीडियो रिकॉर्डिंग की। बाद में तीनों स्टेशन मास्टर कार्यालय गए और जनरल टिकट दिखाते हुए रेलवे शिकायत पुस्तिका की मांग की। पहले तो अधिकारियों ने रुपए दिलवाने का भरोसा दिया, लेकिन जब अग्रणी नहीं माने तो उन्हें शिकायत पुस्तिका दी गई। उसमें उन्होंने ओवर चार्जिंग की रिपोर्ट दर्ज की। इसके बाद रेलवे पुलिस थाने में भी आवेदन सौंप कर पूरे मामले की जांच करने की मांग की गई।

ज्यादा रुपए लिए

& मुझे झारखंड में भागलपुर जाना है। जनरल टिकट खरीदने के दौरान एक्सट्रा चार्ज के नाम पर ज्यादा रुपए लिए गए। क्लर्क से पूछा तो उसने कहा हो गया, जाओ। नेपालचन्द्र दास, यात्री

शिकायत कहां करें?

& मुझसे पन्द्रह रुपए ज्यादा लिए गए। मुझे भागलपुर जाना है। सुपरफास्ट के नाम पर यात्रियों से ज्यादा रुपए लिए जाते हैं। हमको तो पता नहीं है कि शिकायत कहां करनी है। क्लर्क ने अन्य यात्रियों से भी ज्यादा पैसे लिए हैं। रनीया देवी, यात्री

जांच करवाएंगे

& सूरत स्टेशन पर करंट बुकिंग क्लर्क द्वारा यात्रियों से ओवर चार्जिंग बहुत गंभीर बात है। रेलवे इसको बर्दाश्त नहीं करेगी। फिलहाल मुझ तक ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है। इस मामले की जांच के लिए टीम सूरत भेजी जाएगी। मुकुल जैन, मंडल रेल प्रबंधक, पश्चिम रेलवे, मुम्बई


पहले हो चुकी है कार्रवाई

सूरत स्टेशन के करंट बुकिंग कार्यालय के क्लर्क पहले भी उत्तर प्रदेश और बिहार जाने वाली ट्रेनों के यात्रियों से ओवर चार्जिंग करते रहे हंै। रेलवे की विजिलेंस टीम ने स्टेशन पर दौरा कर एक क्लर्क के कैश में गड़बड़ी मिलने पर केस भी बनाया था। ऐसे मामलों में फंसे रेल कर्मचारियों को चार्जशीट दी गई और कइयों की तो पदोन्नित रोक दी गई। यह कार्रवाई सिर्फ ग्रीष्मावकाश तथा दीपावली के सीजन में होती है। मानसून सीजन में ट्रेन में ट्रैफिक कम रहता है। लम्बे समय से विजिलेंस विभाग के अधिकारियों ने सूरत स्टेशन पर कार्रवाई नहीं की है।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned