इसलिए रांदेर में लागू किया मास क्वारन्टाइन

35 फीसदी मामले तीन किमी क्षेत्र से, रांदेर और बेगमपुरा सूरत में हॉट स्पॉट, रांदेर बफर जोन में, क्लस्टर कंटेंट स्ट्रेटेजी पर अमल शुरू

By: विनीत शर्मा

Published: 07 Apr 2020, 07:59 PM IST

सूरत. बीते एक सप्ताह से जिस तरह से रांदेर इलाके से संदिग्धों और पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ रही थी, मनपा प्रशासन ने कोरोना के सामुदायिक प्रसार को रोकने के लिए कड़ी कार्रवाई का मन बना लिया था। रांदेर में अधिक प्रभावित इलाके को बीते दिनों एक सप्ताह पहले आंशिक रूप से मास क्वारन्टाइन किया गया था।शहर में अब तक सामने आए मामलों में 35 फीसदी मामले तीन वर्गकिमी विस्तार के इसी इलाके से हैं।

मनपा प्रशासन ने कोरोना के सामुदायिक प्रसार को रोकने के लिए क्ल्स्टर कंटेंट स्ट्रेटेजी पर अमल शुरू किया है। इसके तहत अधिक प्रभावित इलाकों की घेरेबंदी कर लोगों की गतिविधियों को उसी क्षेत्र में सीमित कर देना है, जिससे कि संक्रमण का प्रसार दूसरे इलाकों में होने से रोका जा सके। रांदेर मुख्यमार्ग पर अडाजण पाटिया से डभोली ब्रिज तक के तापी नदी की ओर के पूरे इलाके को सील करने की कार्रवाई उसी स्ट्रेटेजी का हिस्सा है।

रांदेर और बेगमपुरा शहर में कोरोना के हॉट स्पॉट बन गए हैं। मनपा प्रशासन ने पूरे रांदेर इलाके को बफर जोन घोषित कर दिया है। इन इलाकों में लोगों की गतिविधियों को पूरी तरह बंद कर आवश्यक सेवाओं को ही जारी रखा गया है। मनपा प्रशासन ने कोरोना के सामने आए पॉजिटिव मामलों में प्रभावित इलाकों को सर्वेलांस पर रखा है। इसमें भी रांदेर को शीर्ष वरीयता पर रखते हुए अधिकारियों को विशेष हिदायत दी गई है। इसके साथ ही हाइ रिस्क इलाकों में फीवर क्लीनिक भी शुरू किए जा रहे हैं।

Corona virus
विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned