सूरत में पहली बार ‘फ्री’ का मीटर खुला

15 वर्गमीटर तक के आवास करमुक्त, सालभर अस्पताल में इलाज मुफ्त

By: विनीत शर्मा

Published: 19 Mar 2021, 11:23 PM IST

सूरत. निकाय चुनाव के दौरान बार-बार चर्चा का विषय बना दिल्ली मॉडल आखिरकार सत्तापक्ष भाजपा को भी रास आ गया। स्थाई समिति ने शुक्रवार को मनपा के ड्राफ्ट बजट में संशोधन करते हुए कमजोर वर्ग के लोगों के कंधों से कर का बोझ हटा दिया है। 15 वर्गमीटर तक के घर वाले कमजोर तबके को न वेरा बिल देना होगा और न यूजर चार्ज के लिए ही भुगतान करना होगा। इसके अलावा स्मीमेर व सूरत मनपा संचालित अन्य अस्पतालों में इलाज पूरी तरह फ्री कर दिया गया है। यह सहूलियत शहर के हर व्यक्ति को मिलेगी। समिति ने केपिटल खर्च में 65.32 करोड़ रुपए का इजाफा करते हुए केपिटल खर्च के आंकड़े को 3073.93 करोड़ कर दिया है। रेवेन्यू आवक बढ़ाने के लिए एफएसआइ से आय का लक्ष्य 50 करोड़ बढ़ा दिया है।

आम आदमी पार्टी ने निकाय चुनाव में उतरने के साथ ही प्रचार के दौरान दिल्ली मॉडल का बार-बार जिक्र किया था। दिल्ली से प्रचार के लिए सूरत आए केंद्रीय नेतृत्व ने भी दिल्ली में लोगों को दी जा रही सुविधाओं का जिक्र करते हुए ‘मुफ्त’ पर खूब जोर दिया था। निकाय चुनाव में कांग्रेस भले खेत रही हो, लेकिन आप को पहली ही बार में 27 सीटों पर जीत मिली है। आप नेताओं का दावा है कि इस जीत में दिल्ली मॉडल का भी बड़ा रोल है। लोग दिल्ली की तर्ज पर सूरत में भी बेहतर सुविधाएं चाहते हैं। आप नेताओं का दावा है कि अगले चुनाव में यह आंकड़ा 27 से 72 होते देर नहीं लगेगी।

इसी दावे की हवा निकालने के लिए सत्तापक्ष भाजपा ने सूरत में आप मॉडल वाले फ्री का मीटर खोलने की पहली कोशिश की है। इसके तहत स्थाई समिति ने 15 वर्गमीटर वाले मकानों में रह रहे कमजोर तबके के लोगों के लिए हर तरह का कर माफ कर दिया है। उन्हें अब न वेरा बिल देना होगा और न पानी, गटर समेत किसी भी दूसरे यूजर चार्ज का भुगतान करना होगा। यानी मनपा डायेक्ट टैक्स के नाम पर उनकी जेब से एक भी रुपया नहीं निकलवाएगी। आम आदमी को राहत देते हुए स्मीमेर समेत मनपा संचालित सभी अस्पतालों में इलाज पूरी तरह फ्री कर दिया है। लोगों को दवा और अन्य सेवाओं के पैसे भी नहीं चुकाने होंगे।

मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि ने 6533.97 करोड़ रुपए का बजट पेश करते हुए केपिटल खर्च के मद में 3008.61 करोड़ रुपए आवंटित किए थे। स्थाई समिति ने इसमें 65.32 करोड़ रुपए का इजाफा किया है। सबसे ज्यादा रकम 20 करोड़ रुपए का इजाफा नए शामिल 27 गांवों और दो नगरपालिकाओं के विकास के मद में किया गया है। इसके अलावा तापी में ड्रेजिंग करने, डामेस्टिक रूफ टॉप सोलर प्लांट में मनपा से सब्सिडी, 30 फीट तक के रास्तों को सीसी रोड बनाने समेत सिंगल विंडो सिस्टम पर आगे बढऩे का निर्णय किया है।

पहली कॉल पर होगी मैपिंग

दमकल बेड़े को मजबूत करने के लिए समिति ने तकनीक को और बेहतर करने पर जोर दिया है। अबतक फायर कॉल आने के बाद सही जगह पर पहुंचने में दमकल को कई बार मुश्किल होती है। पता नहीं मिल पाने के कारण दमकल टीम को क्षेत्र में भटकना पड़ता है। समिति ने अधिकारियों को इस तरह का सिस्टम डवलप करने के लिए कहा है, जिसमें फायर की पहली कॉल आते ही उसकी लोकेशन ट्रेस हो जाए। इससे दमकल टीम त्वरित कार्रवाई करते हुए कम समय में सही जगह पर पहुंच पाएगी।

पत्रिका ने दिए थे संकेत

सूरत में पहली बार ‘फ्री’ का मीटर खुला

ड्राफ्ट बजट पर चर्चा के दौरान सत्तापक्ष आम आदमी पार्टी के दिल्ली मॉडल को फॉलो कर सकता है, इसके संकेत राजस्थान पत्रिका ने पहले ही दे दिए थे। पत्रिका ने 19 मार्च को प्रकाशित सूरत एडिशन में ‘आप’ फार्मूले पर आगे बढ़ सकती है भाजपा शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर बता दिया था कि वेरा बिल में राहत और इलाज फ्री करने की तैयारी है। शुक्रवार को समिति प्रमुख परेश पटेल ने जब संशोधित बजट पेश किया तो उसमें दोनों ही प्रस्तावों का जिक्र था।

AAP
Show More
विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned