आईसीएआई ने सीए करने वाले विद्यार्थियों को दी बड़ी राहत

- कोरोना के कारण परीक्षा में हुए विलंब के चकते इंटरमीडिएट परीक्षा में दी बढ़ी छूट

By: Divyesh Kumar Sondarva

Updated: 27 Sep 2021, 12:48 PM IST

सूरत.
कोरोना के कारण राष्ट्रीय और राज्य कक्षा की सभी परीक्षाओं पर इसका गहरा असर हुआ है। इन सभी परीक्षाओं के समय में बार बार बदलाव किया गया। इसके कारण परीक्षा पास करने के समय में भी बड़ा अंतर आ गया है। हाल ही में चार्टर्ड अकाउंट ऑफ इंडिया ने सीए फाउंडेशन का परिणाम जारी किया है। फाउंडेशन। पास करने वाले विद्यार्थियों को इंटरमिडेट की परीक्षा के लिए बड़ी राहत दी गई है। यह परीक्षा अब 8 माह की जगह 6 माह में विद्यार्थी दे पाएंगे।
कोरोना के कारण सीए, नीट, जेईई, गुजकेट जैसी परीक्षाओं के समय में बार बार बदलाव किया गया। इस कारण विद्यार्थी तनाव का शिकार हुए। हाल ही में आईसीएआई ने फाउंडेशन का परिमाण जारी किया है। इससे पास करने वाले विद्यार्थियों को इंटरमीडिएट में हिस्सा लेने के लिए 8 माह तक की पढ़ाई करनी होती है। फाउंडेशन की परीक्षा मई में स्थगित कर जुलाई में ली गई थी। कोरोना के कारण फाउंडेशन परीक्षा में हुए विलंब के चलते इंटरमीडिएट के लिए विद्यार्थियों को 6 माह का समय दिया गाया है। इस संदर्भ में परिपत्र जारी कर विद्यार्थियों को सूचित किया गया है। परिपत्र के अनुसार जुलाई में परीक्षा देने वाले विद्यार्थी मई 2022 में ली जानेवाली इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए 1 नवंबर 2021 तक पंजीकरण करवा सकते है। इन विद्यार्थियों को 8 माह की तैयारी की जगह 6 माह की तैयारी में हो इंटरमीडिएट परीक्षा देने की छूट दी गई है। इस छूट के कारण विद्यार्थी खुश है की उनका साल व्यर्थ नहीं होगा।

Divyesh Kumar Sondarva Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned