दुरंतो एक्सप्रेस में बुकिंग बढ़ानी है तो सूरत में स्टोपेज देने की मांग

दुरंतो एक्सप्रेस में बुकिंग बढ़ानी है तो सूरत में स्टोपेज देने की मांग
दुरंतो एक्सप्रेस में बुकिंग बढ़ानी है तो सूरत में स्टोपेज देने की मांग

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Oct, 11 2019 11:13:48 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

दुरंतो एक्सप्रेस (Duranto Express) को सूरत (Surat) में ठहराव देने की मांग आगे बढ़ी

जेडआरयूसीसी मैम्बर (ZRUCC Member) ने रिक्त सीटों का हवाला देते हुए सूरत में ठहराव की मांग की

सूरत.

मुम्बई से अलग-अलग शहरों के बीच चलने वाली दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेन को सूरत में ठहराव देने की मांग को मुम्बई रेल मंडल ने पश्चिम रेलवे मुख्यालय को रेफर किया है। जेडआरयूसीसी सदस्य ने रिक्त सीटों के आंकड़ों के साथ मुम्बई रेल मंडल को पत्र लिखकर ठहराव देने की मांग की थी।

जेडआरयूसीसी सदस्य राकेश शाह ने बताया कि 22209 मुम्बई-नई दिल्ली दुरंतो एक्सप्रेस के प्रथम एसी श्रेणी में अस्सी प्रतिशत, द्वितीय एसी में 94 प्रतिशत, तृतीय एसी में १०१ प्रतिशत सीट का उपयोग हो रहा है। 12239 मुम्बई-जयपुर दुरंतो एक्सप्रेस में प्रथम एसी में 72 प्रतिशत, द्वितीय एसी में 84 प्रतिशत, तृतीय एसी में 92 प्रतिशत सीट का उपयोग हो रहा है। 12267 मुम्बई-राजकोट दुरंतो एक्सप्रेस में प्रथम एसी श्रेणी में 84 प्रतिशत, द्वितीय एसी में 96 प्रतिशत, तृतीय एसी में 97 प्रतिशत सीट का उपयोग हो रहा है।


12227 मुम्बई-इंदौर दुंरतो एक्सप्रेस में प्रथम एसी श्रेणी में 67 प्रतिशत, द्वितीय एसी में 83 प्रतिशत, तृतीय एसी में 86 प्रतिशत सीट का उपयोग हो रहा है। इन दुरंतो ट्रेनों को सूरत में ठहराव देने से बची हुई सीटों के भरने की पूरी संभावना है। इससे रेलवे का रेवन्यू बढ़ेगा और सूरत के यात्रियों को भी दुरंतो एक्सप्रेस का लाभ मिल सकेगा। राकेश की इस मांग को मुम्बई रेल मंडल की वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक जागृति सिंगला ने पश्चिम रेलवे के मुख्यालय को रेफर किया है।

रेलवे ने राकेश को पत्र लिखकर उनकी मांग को आगे बढ़ाने की जानकारी दी है। इसमें रेलवे ने बताया है कि दुरंतो एक्सप्रेस के ठहराव देने के लिए अलग से पॉलिसी बनाई गई है। इस कैटेगरी में फिट नहीं बैठने के कारण दुरंतो एक्सप्रेस को सूरत में ठहराव नहीं दिया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned