पहले ही दिन दिखा असर, कंटेनमेंट छोड़ सबकुछ खुला

शहर में शुरू हुईं कारोबारी गतिविधियां, शर्तों के साथ कपड़ा-हीरा समेत सबकुछ लगभग पहले जैसा

By: विनीत शर्मा

Updated: 01 Jun 2020, 08:37 PM IST

सूरत. अनलॉक वन के पहले दिन सोमवार को सड़कों पर भीड़ उमड़ी और शहर पटरी पर लौटता दिखा। रिंगरोड स्थित सभी कपड़ा बाजार और महिधरपुरा स्थित हीरा बाजार में रौनक फिर लौटने लगी। शर्तों के साथ कंटेन्मेंट एरिया से बाहर ऑटो और बीआरटीएस बसें भी चलीं और दुकानें भी खुलीं। पहले दिन शहर में करीब 80 फीसदी कारोबारी गतिविधियां निर्बाध शुरू हो गईं। कंटेन्मेंट जोन में बाकी सबकुछ बंद है, लेकिन बैंक खुल गए हैं।

केंद्र सरकार की गाइडलाइन जारी होने के बाद मनपा प्रशासन ने भी रविवार को शहर में अनलॉक वन को लेकर अपना रुख साफ कर दिया था। शहर में रिंगरोड स्थित कपड़ा बाजारों को खोले जाने की मांग पहले से की जा रही थी। मनपा प्रशासन भी एक जून से बाजार खोले जाने पर सहमत था, लेकिन कुछ मार्केट्स को लेकर असमंजस की स्थिति थी।

सोमवार को रिंगरोड पर चहल-पहल बता रही थी कि दो महीने बाद स्थितियां सामान्य होने की तरफ इशारा कर रही हैं। महिधरपुरा हीरा बाजार में रौनक देखने को मिली। हालांकि हीरा कारोबारियों का अनलॉक तो अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के शुरू होने के बाद ही होगा। फिर भी बाजार खुलने से हीरा बाजार की तंग गलियों में भी चहल-पहल दिखी। शहर के शॉपिंग माल्स में भी नजारा अलग सा था और लोगों की भीड़भाड़ दिख रही थी।

कंटेन्मेंट जोन के बाहर शहर की लाइफलाइन (ऑटो रिक्शा) फिर लाइव हो गई। ड्राइवर और दो अन्य सवारियों के साथ ऑटो रिक्शा सड़कों पर दौड़े। ऑटो चलने से उन लोगों को खासी राहत मिली है, जो सार्वजनिक परिवहन खासकर ऑटो पर ही निर्भर हैं। एसओपी के साथ बीआरटीएस बसों का संचालन भी शुरू हो गया।

लॉरी कल्चर के लिए अभी इंतजार

लॉरी कल्चर सूरत की खास पहचान है। इसके बगैर शहर की जिंदगी ठहरी हुई सी लगती है। शाम घिरते ही शहर की आधी से ज्यादा आबादी खाने-पीने के लिए लॉरियों पर जुटने लगती है। अनलॉक वन में मनपा प्रशासन ने फिलहाल लॉरी संचालकों को काम पर लौटने की अनुमति नहीं दी है। शहर में लॉरी कल्चर की वापसी के लिए लोगों को अभी इंतजार करना होगा।

आज से दो रूट पर दौड़ेगी बीआरटीएस

मनपा प्रशासन ने अनलॉक वन में सोमवार से बीआरटीएस बस सेवा शुरू की है। मंगलवार से दो रूट पर बसें दौड़ेंगी। मनपा प्रशासन के मुताबिक एक रूट सरथाणा से ओएनजीसी तक शुरू किया जाएगा, जबकि दूसरा रूट पाल आरटीओ से कोसाड आवास तक। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए दोनों रूटों पर बसों को आधी क्षमता के साथ चलाया जाएगा।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned