ट्रेन में यदि कोई आप से कहे कि मेरे घर बेटी का जन्म हुआ है और मिठाई खाने को दे तो हो जाएं सावधान

ट्रेन में सफर के दौरान यदि कोई आपसे कहे कि मेरे यहां बेटी का जन्म हुआ है। आप मिठाई खाएं तो सावधान रहें उस मिठाई में नींद की दवा हो सकती है और उसे खाने के बाद आपको नींद आ जाएगी। इसके बाद संबंधित आपका कीमती सामान लेकर रफूचक्कर हो जाएगा।

By: Ashish Sikarwar

Published: 10 Feb 2021, 11:37 PM IST

सूरत. ट्रेन में सफर के दौरान यदि कोई आपसे कहे कि मेरे यहां बेटी का जन्म हुआ है। आप मिठाई खाएं तो सावधान रहें उस मिठाई में नींद की दवा हो सकती है और उसे खाने के बाद आपको नींद आ जाएगी। इसके बाद संबंधित आपका कीमती सामान लेकर रफूचक्कर हो जाएगा।
वडोदरा रेलवे एलसीबी पुलिस ने राजस्थान के पाली जिले से ऐसे ही एक संदिग्ध व्यक्ति को गिरफ्तार कर नशीला पदार्थ खिलाकर लूट करने के 11 से अधिक मामले सुलझा लिए हैं। वह दक्षिण भारत से राजस्थान जाने वाली ट्रेनों में रिजर्वेशन करवाकर सफर करता था। इस दौरान बातचीत में यात्रियों को मेरे घर बच्चे का जन्म हुआ है कहकर खाद्य/पेय सामग्री में नींद की गोली मिलाकर दे देता था। रेलवे एलसीबी पुलिस ने उसके पास से करीब 7 लाख 30 हजार 337 रुपए के सोने-चांदी के आभूषण, मोबाइल और नकदी समेत अन्य सामग्री जब्त की है।
वडोदरा रेलवे पुलिस इंचार्ज अधीक्षक परीक्षित राठौड़ ने एलसीबी निरीक्षक उत्सव बारोट को वडोदरा में नशीला पदार्थ खिलाकर लूट करने वाले आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। टेक्निकल टीम के हेड कांस्टेबल शैलेष कुमार और इमरान इकबाल को सूचना मिली कि नशीला पदार्थ खिलाकर लूट करने वाला संदिग्ध व्यक्ति राजस्थान के पाली जिले में है। उत्सव ने एलसीबी उपनिरीक्षक जेवी व्यास, हेड कांस्टेबल रोनी पेनेकल बेन्नी, राकेश जगन्नाथ, इमरान इकबाल और कांस्टेबल प्रकाश कुमार को पाली भेज दिया। रेलवे पुलिस की टीम ने सूचना के आधार पर पाली से संदिग्ध गोविंदराम विरमराम सीरवी (चौधरी) (40) को गिरफ्तार कर लिया। वह पाली जिले की जैतारण तहसील के गणणिया गांव का निवासी था। गोविंदराम से गहन पूछताछ में राजस्थान जाने वाली चार ट्रेनों में यात्रियों को नशीला पदार्थ पिलाकर लूट करने की वारदात कबूल की है। उसके पास से सात लाख 30 हजार 337 रुपए के आभूषण, मोबाइल समेत अन्य सामग्री मिली है। 22 सोने के गहने जिसमें 7 अंगूठी, 2 टीका, 6 कान की बूटी, दो सोने की चेन, दो पैंडल समेत 10 चांदी के गहने हैं। उसके पास से पांच अलग-अलग कंपनी के मोबाइल, नशीली दवाई की 10 टैबलेट आदि शामिल है। रेलवे पुलिस ने गोविंदराम के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच कर रही है।

 

महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान में एफआईआर
रेलवे पुलिस ने बताया कि गोविंदराम के खिलाफ महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान में अनेक मामले दर्ज हैं। 06067 चैन्नई-जोधपुर एक्सप्रेस में राजस्थान पाली निवासी रत्नाराम पुनाराम सेरवी (60) ने वडोदरा रेलवे थाने में मोबाइल चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। इसी ट्रेन में पाली निवासी देवीसिंह मनोहरसिंह राजपूत (36) ने सोने और चांदी के आभूषण की चोरी की रिपोर्ट जोधपुर में दर्ज करवाई है। पाली जिले की सोजत तहसील के सारंगवास गांव निवासी बीजाराम दीपाराम चौधरी (62) ने मारवाड़ थाने में आभूषण चोरी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। 06508 यशवंतपुर-जोधपुर एक्सप्रेस में बैंगलोर निवासी दिलीप रुधारामजी शाकला (49) ने 22 ग्राम के सोने के ब्रेसलेट की चोरी की रिपोर्ट कल्याण, महाराष्ट्र में दर्ज करवाई है।

 

निजी बसों में भी लूटा
गोविंदराम को नशे की लत लग गई थी। वह नशे की जरूरत को पूरा करने के लिए चोरी करने लगा था। वह पहले नशा मुक्ति केंद्र भी गया था। यहां उसे दवाई चालू की गई थी और बताया गया था कि यह नींद की गोली है, जब नींद नहीं आए तो खानी है। उसने दवाई का प्रयोग पहले खुद पर किया, लेकिन ज्यादा असर नहीं हुआ। गोविंदराम ने ट्रेन के साथ-साथ ट्रैवल्स की बसों में बेंगलूरु से राजस्थान की यात्रा करते हुए यात्री को बेहोश करके लूटा है। रेलवे पुलिस को जाखर ट्रैवल्स की जानकारी मिली, जिसमें उसने चोरी की है। इसके अलावा दूसरे ट्रैवल्स की भी रेलवे पुलिस पड़ताल कर रही है।

 

ऐसे देता था वारदात को अंजाम
पुलिस ने बताया कि गोविंदराम रिजर्वेशन फर्जी नाम से करवाता था। चैन्नई से यात्रा शुरू करने के बाद वह परिवार में यात्रा कर रहे लोगों को निशाना बनाता था। राजस्थान और विशेष रूप से पाली क्षेत्र निवासी लोगों के साथ वह उनकी मारवाड़ी में बातचीत कर विश्वास जमा लेता था। इसी दौरान घर में बच्चा होने की झूठी सूचना देकर लोगों को खाने-पीने की सामग्री ऑफर करता था। इसमें वह पहले से ही नींद की गोलियां मिलाकर रखता था।

Ashish Sikarwar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned