बचत खाते में 10 लाख से अधिक जमा करने वालों को आयकर का नोटीस

नोटिस देकर आय के स्रोत की जानकारी मांगी

सूरत
आयकर विभाग इन दिनों टैक्स रिकवरी के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा रहा है। विभाग ने इन दिनों रिकवरी सर्वे के साथ जिन लोगों के बचत खाता में 10 लाख रुपए से अधिक जमा किए गए हों उन्हे नोटिस देकर आय के स्रोत की जानकारी मांगी है।
सूरत कमिश्नरेट में अंदाजन पांच हजार से अधिक करदाताओं को नोटिस दिया गया है। इसमें पिछले सात साल तक के मामलों को शामिल किया गया है। आयकर विभाग की ओर से तय समय सीमा में करदाताओं को जवाब देना होगा, यदि करदाता के जवाब से आयकर अधिकारी संतुष्ठ नहीं हुए तो करदाता के खिलाफ आगे की कार्रवाई की जा सकती है। कई मामलों में करदाता जवाब तो देने आ रहे हैं, लेकिन उनके पास पिछले सालों का हिसाब नहीं होने से वह पर्याप्त कागजी कार्रवाई नहीं कर पा रहे।
उल्लेखनीय है कि आयकर विभाग ने इस साल डिफॉल्टर्स पर बड़े पैमाने पर कार्रवाई कर करोड़ो रुपए की टैक्स रिकवरी की है। टैक्स रिकवरी के अभियान के अंतर्गत ही विभाग ने 10 लाख रुपए से अधिक राशि जमा करने वालों को नोटिस देना शुरू किया है। आने वाले दिनों में विभाग की ओर से सर्वे की कार्रवाई भी शुरू की जाने की संभावना बताई जा रही है।

income tax
Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned