scriptINDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: Why did we die in Pakistan forever? | INDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: पाकिस्तान में बेमौत क्यों मरे हम... | Patrika News

INDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: पाकिस्तान में बेमौत क्यों मरे हम...

-पाकिस्तान से रिहा होकर लौटे 20 भारतीय मछुआरे पहुंचे स्वजनों के पास
-रिहा मछुआरे अनीस ने सुनाई दुखभरी कहानी, कैद में है 650 और 550 की सजा हो गई पूरी

सूरत

Updated: June 23, 2022 08:49:15 pm

सूरत. जेल की एक बैरक जिसकी क्षमता 40-50 कैदियों की है, उसमें हमें ठूंस-ठूंसकर भेड़-बकरियों की तरह 100 से ज्यादा संख्या में भरकर रखते हैं। खुले आसमान में सांस लेने के लिए भी पूरे दिनभर में दो-तीन बार वह भी थोड़ी-थोड़ी देर के लिए बैरक से निकलने देते हैं। यही वजह है कि वहां हमारे मछुआरे बीमार खूब पड़ते हैं...मालिक उनका कुछ करो...वह बीमार ना हो और पाकिस्तान में बेमौत नहीं मरे। भारत सरकार के यह गुहार बुधवार को ही पाकिस्तान से रिहा होकर वड़ोदरा रेलवे स्टेशन पहुंचे गुजरात के ओखा के पास के एक गांव के युवा मछुआरे अनीस कुरैशी ने राजस्थान पत्रिका के साथ बातचीत में लगाई।
पाकिस्तान सरकार ने 19 जून को ही कराची में 4 साल से कैद 20 भारतीय मछुआरों को रिहा कर वाघा-अटारी बॉर्डर के रास्ते भारत भेजा था। इन मछुआरों को मंगलवार देर शाम गुजरात मत्स्य विभाग अमृतसर से स्वर्णमंदिर एक्सप्रेस में लेकर रवाना हुआ था और बुधवार सुबह यह सभी वड़ोदरा पहुंचे थे। रिहा मछुआरों में शामिल अनीस कुरैशी ने पत्रिका संवाददाता से विशेष बातचीत में बताया कि वे अपने अन्य साथियों के साथ 17 अक्टूबर 2018 को पाकिस्तान मरीन सिक्युरिटी एजेंसी के हत्थे चढ़ गए थे। कोई भारतीय मछुआरा पाकिस्तान की समुद्री सीमा में जान-बूझकर नहीं जाता है, सरकार इस बात को गंभीरता से समझे और उन्हें पाकिस्तान की जेल में नारकीय जीवन भुगतने से बचाए। दोनों देशों के बीच बातचीत के दरवाजे फिर से खोले और पाकिस्तान में सड़ रहे भारतीय मछुआरों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में व कम से कम समय में भारत वापस लाए।
INDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: पाकिस्तान में बेमौत क्यों मरे हम...
INDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: पाकिस्तान में बेमौत क्यों मरे हम...

-हवा व समुद्री लहरों में बहकर पहुंचते हैं पाकिस्तान


भारत से पाकिस्तान की समुद्री सीमा में पहुंचने के सवाल पर अनीस ने बताया कि सभी मछुआरे देर शाम पानी में जाल डालकर सो जाते हैं और जब वे सुबह उठते हैं तो समुद्री हवा व लहरों में नौका के साथ बहते हुए पाकिस्तान की समुद्री सीमा में पहुंच जाते हैं। यहीं पर पाकिस्तान मरीन सिक्युरिटी एजेंसी उन्हें सीमा पार जुर्म में पकड़कर ले जाती है। ओखा बंदरगाह से 80 किमी तक भारतीय समुद्री सीमा होती है और वहां तक मछुआरे मछली पकडऩे जाते हैं, लेकिन रात्रि में नौका के साथ बहते हुए 5-7 किमी आगे पहुंचते ही वे स्वयं को पाकिस्तान की सीमा में पाते हैं।

-सूची में भेजते ही 20-20 मछुआरे के नाम हैं


कोरोनाकाल के दौरान 2020-21 में भारतीय मछुआरों की कोई रिहाई नहीं की गई और इस वर्ष दूसरी बार 20 भारतीय मछुआरों को 19 जून को पाकिस्तान ने रिहा किया। इस संबंध में कराची जेल प्रशासन से भारतीय मछुआरे के पूछने पर पता चला कि भारत से जो कैद मछुआरों की सूची विदेश मंत्रालय के माध्यम से पाकिस्तान सरकार को मिलती है, उसमें कैद मछुआरों की संख्या ही 20-20 तक होती है। अनीस के मुताबिक वहां का जेल प्रशासन यह भी बताता है कि पहले जैसे सूची में 100-100 नाम आए तो रिहा करने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं है।
-साढ़े पांच सौ मछुआरों की एम्बेसी क्लीयर


बातचीत में अनीस कुरैशी ने बताया कि अभी कराची व आसपास की जेल में कैद भारतीय मछुआरों की संख्या साढ़े छह सौ से भी ज्यादा है और इनमें से साढ़े पांच सौ मछुआरे ऐसे हैं, जिनकी सजा कब की पूरी हो गई और उनकी एम्बेसी भी क्लीयर हो गई है। अब जब तक भारत सरकार एम्बेसी क्लीयर भारतीय मछुआरों की सूची पाकिस्तान सरकार को नहीं सौंपेगी तब तक उनकी वहां से रिहाई होने में दिक्कत रहनी ही है। सरकार को चाहिए कि एम्बेसी क्लीयरेंस वाले मछुआरों की सूची वहां भेज दे ताकि जेल में बीमार होकर मरने के बजाय परिजनों के पास खुशी से रह सकें।
INDIAN FISHERMEN HUMAN STORY: पाकिस्तान में बेमौत क्यों मरे हम...

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बीईओ का रिटायर्ड शिक्षक से रिश्वत मांगने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल, 60 हजार की थी डिमांडMumbai Rain: IMD की बड़ी भविष्यवाणी, मुंबई में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होने की संभावनाIND vs ENG: Virat Kohli की खराब फॉर्म इंग्लैंड में भी जारी, 4 मैच खेलने वाले गेंदबाज ने किया आउट, देंखे विडियोMumbai News Live Updates: सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा- भारी बारिश से जनता को कोई नुकसान न हो, इसके लिए टीम अलर्ट हैनूपुर शर्मा केस: कांग्रेस बोली- BJP सरकार को मांगनी चाहिएMaharashtra Politics: बीजेपी नेता राहुल नार्वेकर ने विधानसभा स्पीकर के लिए दाखिल किया नामांकन, 3 जुलाई को होगा चुनावRajasthan Monsoon Update: सात जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, यहां झूम के बरसे बादलIndian Railway: अब सभी ट्रेनों में जनरल कोच शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.