देशभर से आए उद्यमियों ने कहा बैंक गारंटी में होती है मुसीबत

उद्यमियों का कहना था कि सूक्ष्म, लघू और मध्यम उद्योग के पास बड़ी पूंजी नहीं होती है

सूरत
यूनाइटेड नेशन्स इन्डस्ट्रीयल डेवलपमेन्ट ओर्गेनाइजेशन के नेतृत्व में देशभर के 10 इन्डस्ट्री क्लस्टर के अग्रणियों के साथ सूरत में आयोजित मीटिंग में उद्यमियों ने अपनी समस्या बताई। उन्होंने कहा कि बैंक गारंटी नहीं मिलने के कारण वह टैक्नोलॉजी के लिए खर्च नहीं कर पा रहे।
उद्यमियों का कहना था कि सूक्ष्म, लघू और मध्यम उद्योग के पास बड़ी पूंजी नहीं होती है। यूनिडो व ईईएसएल की ओर से टैक्नोलॉजी अपग्रेडेशन के लिए जो प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है उसमें बैंक गारंटी मांगी जाती है। यह थोड़ा मुश्किल है। इसके अलावा उद्यमियों ने टैक्नोलॉजी अपग्रेडेशन के लिए दिए जाने वाले समय पर काम पूरा होने की बात कही। मीटिंग के बारे में और जानकारी देते हुए यूनिडो ेके नेशनल प्रोजेक्ट को-ऑर्डिनेटर देबाजीत दास ने कहा कि यूनिडो की ओर से बैंक गारंटी के मामले में नरम रवैया अपनाने का आश्वास न दिया गया। इसके अलावा देशभर में ज्यादा से ज्यादा इन्डस्ट्री को शामिल किया जा सके ऐसी टैक्नोलॉजी डेवलप की जाएगी। साथ ही यूनिडो किस तरह से एमएसएमई के लिए काम कर रहा है इसके लिए प्रचार किया जाएगा। मीटिंग के दौरान यूनिडो के भारत के रीजनल ऑफिस के रिप्रेजेन्टिव रेने वान बरकल, सूरत टैक्सटाइल प्रोसेसर्स एसोसिएशन के प्रमुख जीतू वखारिया और इन्डस्ट्रीयल डेवलपमेंट ऑफिसर संजय मान श्रेष्ठा, अंकलेश्वर केमिकल इन्डस्ट्री, वाराणसी टैक्सटाइल इन्डस्ट्री, आसाम चाय इन्डस्ट्री, इस्ट एंड वेस्ट सिरामिक इन्डस्ट्री के अग्रणी उपस्थित रहे।

file
Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned