ड्यूटी ड्रॉ-बेक मामले में निर्यातक से पूछताछ

ड्यूटी ड्रॉ-बेक मामले में निर्यातक से पूछताछ

Pradeep Devmani Mishra | Publish: Nov, 05 2018 10:01:13 PM (IST) Surat, Gujarat, India

ड्यूटी ड्रॉ-बेक मामले में डीआरआई की जांच


सूरत
डीआरआइ ने दो दिनों पहले शहर के रिंगरोड के निर्यातक के पांच ठिकानों पर की जांच में अब निर्यातक और फायनान्सर से पूछताछ शुरू की है।
दिल्ली डीआरआइ ने ड्यूटी ड्रॉ-बेक योजना का बेजालाभ उठाने वाले शहर के एक निर्यातक के कतारगाम, अडाजण, िरिंगरोड सहित कुल पांच स्थानों पर छापा मारा था। जांच में तमाम स्थानों से बड़े पैमाने पर दस्तावेज जब्त किए गए हैं। विभाग का मानना है कि यह घोटाला 150 करोड़ रुपए का है। उल्लेखनीय है कि ड्यूटी ड्रॉ-बेक योजना के तहत इन लोगों ने लाभ लेने के लिए कम कीमत की वस्तु का ओवरवेल्यूशन कर निर्यात किया था।


शहर में सात ठिकानो पर छापा, दस्तावेज जब्त किए
सूरत
केन्द्र सरकार की ड्यूटी ड्र-बेक योजना का पिछले वर्षो में सूरत के कुछ एक्सपोर्टर ने बेजा लाभ उठाया। यह मामला सामने आने के बाद दिल्ली डीआरआइ की टीम ने सूरत के निर्यातकों के सात ठिकानों पर छापा मारकर दस्तावेज जब्त किए।
डीआरआई के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार केन्द्र सरकार ने निर्यातकों को प्रोत्साहित करने के लिए ड्यूटी ड्रॉ-बेक योजना शुरू की थी। इस योजना के तहत निर्यातकों को उन्होंने निर्यात किए कपड़े की राशि का कुछ प्रतिशत ड्रा-बेक के तौर पर मिलता था। कुछ निर्यातक कम कीमत के कपड़े को ज्यादा कीमत का बताकर बेचते थे और ज्यादा ड्रॉ-बेक क्लैम करते थे। कुछ वर्षो पहले दिल्ली डीआरआइ ने इस मामले का पर्दाफांश किया था। इसकी जांच जारी थी। इस दौरान दो दिन पहले डीआरआइ की टीम ने सूरत में कतारगाम, अडाजण, वराछा और सिटीलाइट सहित कुल पांच स्थानों पर छापा मारा। शनिवार तक चली कार्रवाई के दौरान विभाग ने बड़े पैमाने पर दस्तावेज जब्त किए हैं। जांच के बाद कितनी रकम का घोटाला था यह पता चल सकेगा। डीआरआई के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जांच के बाद कितनी रकम का घोटाला था यह पता चल सकेगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned