लॉकडाउन से पहले के बकाया पर भी मांगा ब्याज

ट्रेडर्स के साथ नए सिरे से बंधेगी रिश्तों की डोर, प्रोसेसर्स के बाद अब वीवर्स ने खोला मोर्चा, तय हुए नियम कायदे, फोग्वा का ऐलान आज से होगा अमल

By: विनीत शर्मा

Updated: 14 Jun 2020, 04:46 PM IST

सूरत. प्रोसेसर्स के बाद अब वीवर्स दशकों पुराने रिश्ते को नई शर्तों के साथ आगे बढ़ाने की तैयारी में हैं। फोग्वा ने शनिवार को बैठक कर लॉकडाउन से पहले के बकाया पर भी ब्याज मांगा है। साथ ही अब आठ दिन के भीतर ट्रेडर को माल का भुगतान करना होगा। भुगतान में देरी होने पर ब्याज भी देना होगा।

कपड़ा कारोबारियों ने जमीन आसमान एक कर बाजार तो खुलवा लिए लेकिन उनकी मुश्किलों में रोज इजाफा हो रहा है। पुरानी दिक्कतों को एकबार को दरकिनार भी कर दें तो नए सिरे से धंधे की शुरुआत कांटों भरी राह साबित होने जा रही है। लिक्विडिटी संकट के चलते पहले से माना जा रहा था कि बाजार के लिए आने वाला वक्त मुश्किल भरा है। जैसे-जैसे कारोबारी गतिविधियां शुरू हुईं यह दिखने भी लगा है। कपड़ा कारोबार की धुरी भले ट्रेडर हो और उसकी वजह से ही वीविंग और प्रोसेसिंग इंडस्ट्री चलती हो, लेकिन वीवर्स और प्रोसेसर्स ने ही उसकी राह मुश्किल कर दी है।

प्रोसेसर्स के बाद अब वीवर्स ने नई शर्तों के साथ दशकों पुराने संबंधों को आगे बढ़ाने का फैसला किया है। फोग्वा की शुक्रवार को हुई बैठक में तय हुआ कि कपड़ा व्यापारियों को अब ग्रे लेना है तो एक हफ्ते के भीतर भुगतान करना होगा। भुगतान में देरी पर ब्याज देना होगा। साथ ही जिन ट्रेडर्स पर लॉकडाउन से पहले का कोई उधार बाकी है, उन्हें ब्याज के साथ मूल चुकाना होगा।

नहीं देंगे बिजली बिल

वीवर्स और प्रोसेसर्स बीते लंबे अरसे से बिजली दरों में कटौती कर उन्हें महाराष्ट्र के स्तर पर लाने की मांग करते आ रहे हैं। कोरोनाकाल में लॉकडाउन के बाद कारोबारी गतिविधियां शुरू हुईं तो यह मांग फिर जोर पकडऩे लगी है। बैठक में तय हुआ कि अगली व्यवस्था तक कोई वीवर बिजली बिलों का भुगतान नहीं करेगा।

बैंक छोड़ेगी तो हम भी छोड़ देंगे

हमें बैंक को ब्याज देना पड़ रहा है। लॉकडाउन का ब्याज भी बैंक ले रही है। अगर बैंक हमसे ब्याज लेना बंद कर देंगी तो हम भी ट्रेडर्स से ब्याज नहीं लेंगे। बैंक को ब्याज दे रहे हैं इसीलिए ट्रेडर से ब्याज ले रहे हैं।
अशोक जीरावाला, प्रमुख, फोग्वा

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned