5,843 सुपर स्प्रेडरों की जांच में 52 पॉजिटिव मिले

- कोरोना रोकथाम और जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग ने सभी जोन में टीमें उतारी

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 17 Sep 2020, 09:52 PM IST

सूरत.

शहर में रोजाना मिलने वाले कोरोना मरीजों की संख्या राज्य में सर्वाधिक है। मनपा स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना की रोकथाम के लिए सुपर स्प्रेडरों की पहचान कर उसे आइसोलेट करना शुरू किया है। पिछले सात दिनों से की जा रही जांच के दौरान करीब 5,843 सुपर स्प्रेडरों की जांच की जिसमें 52 सुपर स्प्रेडर कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। स्वास्थ्य विभाग ने इन्हें होम आइसोलेशन कर उपचार शुरू किया है।

शहर में अब तक कोरोना वायरस के कुल 18,902 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं जिसमें 651 मरीजों की मौत हो चुकी है। वहीं 16,742 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट गए है। मनपा स्वास्थ्य विभाग ने पिछले कुछ दिनों से सुपर स्प्रेडरों की पहचान करके उन्हें आइसोलेट करने की प्रक्रिया शुरू की है। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि मनपा की टीम आठों जोन में दूध विक्रेता, डेरी, पान की लारी, चाय की स्टॉल, ऑटो रिक्शा ड्राइवर, ऑटो गैरेज वर्कर, सैलून आदि क्षेत्रों में कोरोना जांच को बढ़ा दिया है। सात दिनों के दौरान अलग-अलग आठ जोन में चलाए गए जांच अभियान में 5,843 सुपर स्प्रेडरों की जांच की गई जिसमें 52 सुपर स्प्रेडर कोरोना पॉजिटिव मिले है।

शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में मंगलवार को पान गल्ला और चाय की स्टॉल पर काम करने वाले 855 लोगों की जांच की गई। इसमें सात जने कोरोना पॉजिटिव मिले। उधना और रांदेर जोन में दो-दो तथा सेंट्रल, वराछा-ए, कतारगाम जोन में एक-एक व्यक्ति पॉजिटिव मिला है। इसी दौरान 14 सितम्बर को को ऑटो गैरेज में काम करने वाले 860 लोगों की जांच की गई जिसमें 8 जने पॉजिटिव मिले है। 13 सितम्बर को सैलून में काम करने वाले 650 लोगों की जांच की गई जिसमें लिम्बायत जोन में सिर्फ एक व्यक्ति पॉजिटिव मिला। इसी क्रम में 10 सितम्बर को 973 ऑटोरिक्शा और टैक्सी ड्राइवरों की भी जांच की गई थी जिसमें 14 जने कोरोना पॉजिटिव मिले है। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 11 सितम्बर को 1190 कैशियरों व एकाउंटेंट की जांच में 10 जने, कूरियर और फूड डिलिवरी करने वालों 695 लोगों की जांच में 9 जने कोरोना पॉजिटिव मिले।

25 सितम्बर तक चलेगा अभियान

मनपा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आशिष नायक ने बताया कि टीम को 25 सितम्बर तक शिड्यूल बनाकर दिया गया है। उसी मुताबिक टीमें अलग-अलग जोनों में जाकर जांच अभियान को पूरा करेगी। गुरुवार को दर्जी, स्त्री करने वाले, शुक्रवार को किराना दुकानदार, शनिवार को मेडिकल स्टोर, मेडिकल रिपरजेन्टेटिव, रविवार को पेट्रोल पंप कर्मचारियों, सोमवार को खाने-पीने की लारी वाले, मंगलवार को सब्जी व फल विक्रेताओं, बुधवार को अनाज की चक्की, गुरुवार को फरसाण दुकानदार, शुक्रवार को ट्रैवल्स ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों के जांच का शिड्यूल बनाया है।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned