सूरत में ज्वैलर्स ने आर्थिक तंगी में खुदकुशी की

उधारी बढऩे तथा फ्रॉड इंवेस्टमेंट में फंसने से हुआ नुकसान

By: Sanjeev Kumar Singh

Published: 18 Feb 2020, 03:29 PM IST

सूरत.

कापोद्रा क्षेत्र में ज्वैलर्स दुकान मालिक ने ब्याज पर रुपए लेने के बाद उधारी बढऩे तथा फ्रॉड इंवेस्टमेंट में फंसने के कारण आर्थिक तंगी में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस ने दुकान से सुसाइड नोट बरामद किया है। लसकाणा के ओपेरा पैलेस निवासी राजेश चिमण सावलिया (32) की कापोद्रा जलक्रांति मैदान के सामने युनिक ज्वैलर्स नामक दुकान थी। इसी दौरान राजेश ने रविवार को दोपहर एक से रात आठ बजे के बीच ज्वैलर्स की दुकान में फांसी लगा कर खुदकुशी कर ली।

स्थानीय लोगों से सूचना मिलने पर पुलिस पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए स्मीमेर अस्पताल ले आई। पुलिस ने बताया कि राजेश मूल जुनागढ़ के सरसई गांव का निवासी था। उसने आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट लिखा है जो पुलिस को मिला है। इसमें उसने उधारी बढऩे के कारण आत्महत्या करने की बात कही है। उसने लिखा है कि ब्याज से रुपए लेकर तथा जमा पूंजी को फ्रॉड इंवेस्टमेंट में फंसने के कारण बहुत नुकसान हुआ है।

आगामी दिनों में लेनदारों के द्वारा रुपए मांगने का दबाव बनाया जाएगा। इसके लिए वह मानसिक रुप से तैयार नहीं है। मेरे परिवार को हैरान नहीं करना, वो निर्दोष है। अंत में राजेश ने जवाबदारी नहीं निभाने और भूल होने की बात स्वीकार करने की बात लिखी है। पुलिस ने सुसाइड नोट कब्जे में लेकर शव का पोस्टमार्टम करवाया और जांच शुरू की है।

Sanjeev Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned