फरार पुलिसकर्मियों के खिलाफ लुक आउट नोटिस

फरार पुलिसकर्मियों के खिलाफ लुक आउट नोटिस

Dinesh M.Trivedi | Updated: 04 Jun 2019, 12:59:25 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

खटोदरा पुलिस की थर्ड डिग्री से चोरी के संदिग्ध की मौत का मामला
अवैध ढंग से हिरासत में रखा तो थाना निरीक्षक पर होगी कार्रवाई

सूरत. खटोदार पुलिस द्वारा थर्ड डिग्री के इस्तेमाल से युवक की मौत के मामले में फरार थाना प्रभारी समेत आठ पुलिसकर्मियों का पुलिस कोई ठोस सुराग हासिल नहीं कर पाई है। पुलिस ने सोमवार को उनके देश छोड़ कर भागने की आशंका को लेकर लुक आउट नोटिस जारी किया है। इसे सभी हवाई अड्डों और बंदरगाहों को भेज दिया गया है।
पुलिस का दावा है कि उनकी खोज के लिए पीसीबी, एसओजी और डीसीबी की आठ अलग-अलग टीमें गठित की गई हैं। यह टीमें सभी आरोपियों गांधीनगर योगी सोसायटी निवासी पुलिस निरीक्षक एमबी.खिलेरी (48), पाटण जिले के घीणोज निवासी उप निरीक्षक सी.पी. चौधरी (27), सुरेन्द्रनगर के कंथारिया गांव निवासी कल्पेश गरंभा (32), माधवानंद सोसायटी भावनगर निवासी आशीष दियोरा (32), मेहसाणा जिले के लक्ष्मीपुरा गांव निवासी हरेश चौधरी (२७), बोटाद जिले के ढसा गांव निवासी परेश भुकण (27), बनासकांठा जिले के मोटा सड़ा गांव निवासी कनकसिंह दियोल (30) और दलुभा संघाणी (30) के मूल निवास तथा संभावित ठिकानों पर जांच में जुटी हंै। इसके अलावा क्राइम ब्रांच की इलेक्ट्रोनिक सर्वेलेंस टीम भी सक्रिय है। यह टीमें उनके मोबाइल सीडीआर के जरिए उनका लोकेशन ट्रेस करने का प्रयास कर रही हैं। आरोपियों के देश छोड़ कर भागने की आशंका के कारण पासपोर्ट कार्यालय से उनके पासपोर्ट की जानकारी मंगवा कर एयरपोर्ट और पोर्ट ऑथोरिटी को लुक आउट नोटिस जारी किया गया है। उल्लेखनीय है कि खटोदरा पुलिस ने छह दिन पहले चोरी की आशंका में तीन युवकों को अवैध रूप से हिरासत में लिया था। उन पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल कर मारपीट की गईी। इससे एक युवक ओमप्रकाश पांडे बेहोश हो गया था। ब्रेन हेमरेज होने पर उसे निजी अस्पताल में वेटिंलेटर पर रखा गया था, जहां शनिवार को उसकी मौत हो गई थी। शुक्रवार शाम मामले का खुलासा होने पर आलाधिकारियों की मौजूदगी में थाना प्रभारी समेत सात पुलिसकर्मियों को हिरासत में ले लिया गया था, लेकिन वह पुलिसकर्मियों के साथ हाथापाई कर भाग निकले थे।

 

अवैध ढंग से हिरासत में रखा तो थाना निरीक्षक पर होगी कार्रवाई


खटोदरा थाने में अवैध तरीके से बंदी बनाकर रखने और पिटाई करने से युवक की मौत के बाद सोमवार को पुलिस आयुक्त ने आदेश जारी किया कि अब किसी भी थाने में किसी को गिरफ्तारी के बिना अवैध तरीके से रखा जाता है तो उस थाने के निरीक्षक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि ओमप्रकाश पांडेय, उसके भाई रामगोपाल पांडेय और जयप्रकाश को खटोदरा पुलिस ने अवैध तरीके से बंदी बना कर रखा था। उनकी बेरहमी से पिटाई की गई थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned