दमण के राजा का भव्य स्वागत

दमण के राजा का भव्य स्वागत

Sunil Mishra | Publish: Sep, 09 2018 09:59:33 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 09:59:34 PM (IST) Surat, Gujarat, India

गणेश चतुर्थी 13 सितम्बर को


दमण. दमण के राजा गणपति का रविवार को श्रद्धालुओं ने भव्य स्वागत किया। डीजे के गीतों पर झूमते भक्तों ने नाचते गाते श्रीगणेश का स्वागत किया। 13 सितम्बर को गणेश चतुर्थी है, जिसकी तैयारियां शुरू हो गई हैं।

गणेश मूर्तियों का किया वितरण
वांसदा. धर्मजागरण समन्वय द्वारा वांसदा के श्रीकेलवणी मंडल प्रताप हाइस्कूल के हॉल में गणेश मूर्ति वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसके अंतर्गत हर साल की तरह भगवान गणपति की मूर्ति के साथ शोभायात्रा भी निकाली गई। इसमें वांसदा तहसील के तीन सौ गणेश मंडलों के कार्यकर्ता शामिल हुए। बाद में गणेश जी की तीन सौ प्रतिमाओं का वितरण किया गया। जिन्हें स्थापित कर गणेश महोत्सव के दौरान श्रद्धालु पूजा अर्चना करेंगे। इस अवसर पर भायकु पवार, ईश्वर थोराट, हसमुख चौधरी, हर्षिल ढिम्मर समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में प्रदेशाध्यक्ष हुए शामिल
दमण. भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की रविवार को दिल्ली में आयोजित बैठक में दमण-दीव प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष गोपाल टंडेल ने भी हिस्सा लिया। गोपाल टंडेल ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को प्रदेश भाजपा द्वारा किए गए कार्यों की एक बुकलेट भी दी तथा उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भेंटकर उन्हें दमण-दीव प्रदेश में आने का न्योता दिया। गोपाल टंडेल के न्योते को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सहर्ष स्वीकार किया। इस बैठक में उपस्थित भाजपा के सभी पदाधिकारियों को दमण-दीव प्रदेश भाजपा द्वारा एक बुकलेट दी गई।

 

patrika

जैविक कृषि एवं गो संवर्धन के लाभ बताए
दमण. दमन के दुनेठा विस्तार में जैविक कृषि विकास एवं गो संवर्धन पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें राष्ट्रीय दुग्ध विकास बोर्ड के निदेशक एवं विश्व हिंदू परिषद की गो रक्षा विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष व हिंदू विश्वविद्यालय वाराणसी के प्रोफेसर डॉ. गुरुप्रसाद सिंह ने जैविक कृषि विकास एवं गोसंवर्धन विषय पर संबोधित करते हुए देशी गाय के संरक्षण एवं गाय के गोबर एवं गोमूत्र से विभिन्न प्रकार के उत्पाद के विषय में लोगों का ध्यानाकर्षण किया। इस अवसर पर उन्होंने प्राचीन काल से देशी गाय के दूध-गोमूत्र एवं गोबर से होने वाले सामाजिक एवं स्वास्थ्य के विषय में प्रभावकारी लाभ पर विशेष तौर पर जानकारी प्रदान की । उन्होंने बताया कि भारतवर्ष के प्रत्येक राज्य में प्रत्येक किस्म की देशी गाय पाई जाती है। देशी गाय से स्वास्थ्यवर्धक उत्पादों को बनाकर बेरोजगारी को भी दूर किया जा सकता है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned