International Kite Festival: पतंगबाजों ने उड़ाई रंगबिरंगी पतंगें

सापूतारा में अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव का आयोजन


International Kite Festival organized in Saputara

Sunil Mishra

January, 1510:31 PM

वांसदा. सापूतारा में गुजरात प्रवासन निगम और जिला प्रशासन की ओर से गवर्नरहिल पर अंतरराष्ट्रीय पतंगोत्सव का आयोजन किया गया। इसमें देश विदेश से आए 80 से ज्यादा पतंगबाजों ने अपने पतंगें उड़ाई।
जानकारी के अनुसार पतंगोत्सव में में 50 से ज्यादा विदेशी पतंगबाज शामिल थे और वातावरण भी पंतगों के उडऩे के अनुकूल रहने पर आकाश में पतंगें छा गई। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पतंगबाजों ने पतंगों के तरह-तरह के करतब दिखाते हुए स्थानीय लोगों एवं पर्यटकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इससे पूर्व पतंगबाजों का डांग की परंपरा के अनुसार पावरी नृत्य और पुष्पहार से स्वागत किया गया। रंगबिरंगी पतंगों को डीजे और डांगी नृत्य के साथ आसमान में उड़ता देखकर लोग झूम उठे थे। पतंग महोत्सव की शुरूआत वन एवं आदिजाति मंत्री रमण पाटकर ने कलक्टर एनके डामोर की उपस्थिति में की। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष बीबीबेन चौधरी समेत कई अग्रणी उपस्थित थे। पतंग महोत्सव का आनंद उठाने नासिक, मुंबई, सूरत, नवसारी, वड़ोदरा समेत अन्य जगहों से भी पर्यटक आए थे।

Must Read Related News;

Gujarat: अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट में 31वें अंतरराष्ट्रीय पतंग महोत्सव-2020 का शुभारंभ

Gujarat: 43 देशों के 153 पतंगबाजों सहित देश के 12 राज्यों के 115 पतंगबाज लड़ाएंगे पतंग के पेंच

VAPI NEWS; पतंगबाजों का उत्साह भारी पड़ा पक्षियों की जान पर

गुजरात करता है पक्षियों की मनुष्य जितनी चिंता : सीएम

International Kite Festival: पतंगबाजों ने उड़ाई रंगबिरंगी पतंगें

दो दिन मनाया मकर संक्रान्ति का त्योहार
वलसाड. शहर में लोगों ने मंगलवार और बुधवार दो दिन मकर संक्रान्ति का त्योहार मनाया। इस दौरान लोगों ने दान पुण्य किया और पतंगबाजी का लुत्फ उठाया। मंगलवार को शहर में लोगों ने सुबह से शाम तक पतंगें उड़ाई। इसके अलावा लोगों ने गोशालाओं में जाकर गायों को चारा खिलाया। सैकड़ों भिक्षुकों को भी लोगों ने भोजन करवाया। बुधवार को भी मकर संक्रान्ति मनाते हुए दान पुण्य किया। त्योहार के अंतर्गत किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस ने पूरा बंदोबस्त किया था। मकर संक्रान्ति पर जीवदया प्रेमियों ने घायल पक्षियों के उपचार के लिए दमकल विभाग के पास सेन्टर बनाया था। चार दिनों में जीवदया प्रेमियों ने 50 से ज्यादा कबूतरों एवं अन्य पक्षियों की जान बचाई। वन विभाग ने भी इसमें पूरा सहयोग दिया।

Show More
Sunil Mishra Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned