जानिए हेलमेट को लेकर घोषणा के बाद क्या कहा पुलिस व लोगो ने ?

surat news :
आज से बगैर हेलमेट कोई कार्रवाई नहीं - surat traffic police

सूरत. प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में दुपहिया वाहनों के लिए हेलमेट अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए सूरत शहर पुलिस उपायुक्त (ट्र्रैफिक) प्रशांत सुम्बे ने पत्रिका से बातचीत में बताया कि अब तक इस संबंध में कोई लिखित आदेश नहीं मिला है, लेकिन गुरुवार से इस पर अमल किया जाएगा। हेलमेट को लेकर दुपहिया वाहन चालकों से कोई सख्ती नहीं की जाएगी। सहायक पुलिस आयुक्त (ट्रैफिक प्लानिंग) बी.एन. दवे ने बताया कि हेलमेट नहीं होने पर कोई चालान नहीं बनाया जाएगा। हालांकि पुलिस दुपहिया वाहन चालकों को हेलमेट का महत्व बता कर उन्हें उसके उपयोग के लिए जागरूक करने के प्रयास जारी रखेगी।
वसूली से मिलेगी निजात
राज्य सरकार के इस फैसले से लोगों को पुलिस की वसूली से निजात मिल जाएगी। अपनी सुरक्षा के लिए लोगों को खुद ही हेलमेट पहनने की पहल करनी चाहिए। जो लोग बगैर हेलमेट निकल रहे थे, उनसे पुलिस प्रशासन अवैध वसूली में लिप्त था। मुख्यमंत्री के इस फैसले से लोगों को बड़ी राहत मिली है।
जगदीश कोठारी, कपड़ा व्यापारी
सुरक्षा के लिए जरूरी
हेलमेट पहनने का नियम पुलिस के लिए अवैध वसूली का जरिया बन गया था। राज्य सरकार के इस फैसले से लोगों को अब पुलिस की अवैध वसूली से राहत मिलेगी। मिलेनियम मार्केट पर सुबह के समय इस वसूली के कारण अक्सर जाम के हालात बनते है। हालांकि अपनी सुरक्षा के लिए लोगों को हेलमेट पहनना ही चाहिए।
कपीश खाटूवाला, कपड़ा व्यापारी
दबाव में किया निर्णय
मेरी नजर में यह दबाव में किया गया गलत निर्णय है। हो सकता है कि शहर की भीड़भाड़ में गाडी़ की गति ज्यादा नहीं होती, इसलिए लोग हेलमेट का विरोध करते हों, लेकिन कई बार दूसरे की लापरवाही से भी दुर्घटना होती है। जीवन की सुरक्षा के लिए दुपहिया वाहन चलाते हुए हेलमेट की अनिवार्यता होनी चाहिए।
लता अभानी, लॉयंस क्लब ऑफ सूरत स्मार्ट सिटी
पुनर्विचार करना चाहिए
हेलमेट पहन कर दुपहिया वाहन चलाना सब के लिए महत्वपूर्ण है। दुर्घटना के वक्त काफी हद तक व्यक्ति की सुरक्षा होती है। गुजरात सरकार को फैसले पर पुनर्विचार करना चाहिए।
संजय शेट्टी, व्यापारी, अभिषेक मार्केट
फैसला सही नहीं
गुजरात सरकार का फैसला सुरक्षा की दृष्टि से सही नहीं है। इसके बजाए हेलमेट पहनना अनिवार्य रखते हुए जुर्माने की राशि कम करनी चाहिए थी।
बजरंगलाल अग्रवाल, प्रोपर्टी ब्रोकर
स्वागत योग्य निर्णय
हेलमेट को लेकर गुजरात सरकार ने जो निर्णय किया है, वह स्वागत योग्य है। शहर में हेलमेट पहनने से वाहन चालकों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सरकार के फैसले से लोगों को बड़ी राहत मिली है।
जमीर शेख, अधिवक्ता
भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी
गुजरात सरकार का यह कदम सराहनीय है। इससे ट्रैफिक पुलिस के भ्रष्टाचार पर लगाम लगेगी। ट्रैफिक पुलिस को देखकर वाहन चालक बचने के लिए इधर उधर भागते थे। अब ऐसा नहीं होने से दुर्घटना पर लगाम लगेगी।
शिव प्रसाद पोद्दार, प्रोपर्टी ब्रोकर
लोगों को राहत मिलेगी
गुजरात सरकार के इस फैसले से लोगों को राहत मिलेगी। पहले वाहन चालक जुर्माने से बचने के लिए इधर-उधर भागते थे। अब वह चैन से वाहन चला सकेंगे। सरकार का फैसला अच्छा है।
अनुभा चेट्टी, व्यवसायी
सुरक्षा का खुद ख्याल रखें
राज्य सरकार या केन्द्र सरकार तो अपने ढंग से नियम-कानून बदलते रहते हैं, लेकिन लोगों को खुद समझना चाहिए कि यदि वह हेलमेट पहनते हैं तो दुर्घटना में समय उनकी सुरक्षा होगी।
हरीश लालवाणी, व्यापारी

Dinesh M Trivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned