SURAT NEWS: जानिए किस मंदिर में चलेगा लगातार 45 दिन महारुद्राभिषेक

बासुकीनाथ महादेव मंदिर में शुरू हुआ भगवान शिव का अभिषेक
गुरु पूर्णिमा से45 दिवसीय अनुष्ठान की शुरुआत

दमण.गुरु पूर्णिमा से बासुकीनाथ महादेव मंदिर, दलवाड़ा में 45 दिवसीय महारूद्राभिषेक ( Maharudrabhishak)अनुष्ठान की शुरूआत हो गई है। बासुकीनाथ महादेव मंदिर के प्रणेता अनिल अग्रवाल ने अपनी धर्मपत्नी के साथ बासुकीनाथ महादेव का अभिषेक करते हुए दमण-दीव की सुख-शांति और समृद्धि की कामना की। अन्य श्रद्धालुओं ने भी बासुकीनाथ महादेव को घी-दूध-दही, शहद, बेलपत्र अर्पित किए। मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए दिन भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इसी के साथ 45 दिवसीय महारूद्राभिषेक अनुष्ठान की शुुरुआत भी हो गयी है। 17 जुलाई से उत्तर भारतीय सावन शुरू हो रहा है। उत्तर भारतीय सावन से लेकर पवित्र गुजराती श्रावण मास भर हर रोज 101 किलो दूध, 21 किलो दही,1-1 किलो घी, शहद, भांग, बेलपत्र, धतुरा-भस्म से बासुकीनाथ महादेव का अभिषेक किया जाएगा। 31 अगस्त तक रोज सुबह 8 बजे से 11 बजे तक और शाम 7.30 बजे से रात 10.30 बजे तक बासुकीनाथ महादेव का अभिषेक किया जाएगा।

कावड़ यात्रा 11 अगस्त को
सिलवासा. मां शारदा मित्र मंडल ने सावन के अंतिम सोमवार को शिवलिंग पर जलाभिषेक के लिए 11 अगस्त को कावड़ यात्रा निकालने का निर्णय लिया है। इच्छुक श्रद्धालु कावड़ यात्रा में सम्मिलित हो सकते हैं। आयोजकों ने बताया कि इस बार सावन मास में चार सोमवार हैं, जिसमें अंतिम सोमवार 12 अगस्त को पड़ रहा है। कावड़ यात्रा में हिस्सा लेने वाले श्रद्धालुओं को एक समान भगवा कपड़े व कावड़ सामग्री मंडल की ओर से मिलेगी। कावड़ 11 अगस्त रविवार को दोपहर बाद तीन बजे गायत्री मंदिर से रवाना होगी। मान्यता है कि सावन के सोमवार को शिवलिंग पर जल अभिषेक से सारे दुख दूर हो जाते हैं।

Show More
Sunil Mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned