हर्षोल्लास से मनाई गई कृष्ण जन्माष्टमी

हर्षोल्लास से मनाई गई कृष्ण जन्माष्टमी

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Sep, 04 2018 08:42:39 PM (IST) | Updated: Sep, 04 2018 08:42:40 PM (IST) Surat, Gujarat, India

नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की

जिले में दही-हांदी मटकी फोड़ प्रतियोगिता

भरुच.

जिले भर में सोमवार को श्री कृष्ण जन्माष्टमी हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। जन्मोत्सव से पहले विभिन्न मंदिरों में भजन-कीर्तन का दौर चलता रहा। घर-घर और मंदिरों में जैसे ही रात को घड़ी की सूई १२ पर पहुंची बधाइयां बजने लगी। नन्द के आनंद भयो, जय कन्हैयालाल की... के जयघोष से पूरा वातावरण गूंज उठा। श्री कृष्ण जन्मोत्सव पर विभिन्न मंदिरों तथा सोसायटियों में मटकी फोड़ और नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमें प्रतिभागियों ने बढ़ चढक़र हिस्सा लिया। जिले भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम रही। घर से लेकर बाजार तक थानों से लेकर पुलिस लाइन तक जन्मोत्सव की तैयारियां थी।

 

सुबह से लेकर शाम तक लोग बाजार में कान्हा के जन्म की तैयारियों में लगे रहे। शाम होते ही घर-घर भजन के स्वर गूंजने लग गए। मौसम भी इस बार श्रीकृष्ण के श्रद्धालुओं के साथ रहा। दिन भर हल्की धूप के साथ बदली और बूंदाबादी से मौसम खुशगवार हो गया था। शाम होते ही आकाश में काले बादल उमड़े और मुरली वाले के जन्म से पहले ही जमकर बारिश हुई। देर रात तक सडक़ पर भी लोग जगह-जगह सजे राधा कृष्ण की आकर्षक झांकियों का आनंद उठाए।

 


भजन व श्रीकृष्ण की लीलाओं की कथाओं में डूबे श्रद्धालुओं ने घड़ी की सुई ने जैसे ही १२ बजने का संकेत दिया, घंटों-घडिय़ालों का स्वर गूंजने लगे। कान्हा के धरती पर आने के साथ ही जय कन्हैय्या लाल की.. गूंजने लगा। इसके बाद श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीकृष्ण की आरती उतारी। उधर, श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की धूम ग्रामीण क्षेत्रों में भी रही। रात १२ बजते ही घंट-घडियालों के बीच जयकारें लगे और बधाइयां बजने लगे।

 


अंकलेश्वर में भी श्रीकृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम के साथ मनाई गई। राधा-कृष्ण के मंदिरों में विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम और झांकी का आयोजन किया गया जिसे देखने के लिए लोगों की भीड़ लगी रही। कन्हैय्या के जयकारों के साथ भजन, कीर्तन, रामचरितमानस पाठ और गीतों के साथ वातावरण भक्तिमय रहा। शहर के राधाकृष्ण मंदिर सहित जाडेश्वर स्थित गायत्री मंदिर व इस्कॉन मंदिर में धूमधाम के साथ श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई गई।

 

जाडेश्वर में दही-हांडी के कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें भक्तों ने उत्साह के साथ हिस्सा लिया। घनघोर बारिश के बीच जन्म लेने वाले श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव पर सोमवार देर शाम मूसलाधार बारिश हुई। बरसात के बीच भी लोगो के उत्साह में कोई कमी नही दिखाई दी थी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned