‘योगाभ्यास व शक्तिपात से कुंडलिनी जागृत’

मनुष्य मिलन साधना शिविर

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 18 Dec 2018, 09:41 PM IST

सूरत. वेसू के कोहिनूर फार्म में सन टू ह्यूमन एनलिवन एसोसिएशन की ओर से आयोजित दस दिवसीय मनुष्य मिलन साधना शिविर में मंगलवार को परमआलय महाराज ने बताया कि मनुष्य के भीतर सोई हुई शक्ति को कुंडलिनी कहते हैं। कुंडलिनी मनुष्य के शरीर की अलौकिक संरचना है, जिसके अंदर ब्रह्मांड की समस्त शक्तियां समाहित है।
मनुष्य मिलन साधना शिविर के तीसरे दिन महाराज ने बताया कि हजारों साल पूर्व गुरु अपने शिष्यों की कुंडलिनी शक्ति को योगाभ्यास तथा शक्तिपात के माध्यम से जागृत किया करते थे। जिसके बाद शिष्य अलौकिक शक्तियों का स्वामी बनकर जनकल्याण में शक्तियों का सदुपयोग करता था। कुंडलिनी जागृत हो जाने पर मनुष्य कभी बूढ़ा नही हो सकता। उसके अंदर 5 से 90 वर्ष की अवस्था में यौवन बना रहता है। स्वयं का शक्तिशाली बनना जरूरी है। मजबूत मानसिकता से ही मनुष्य शक्तिशाली बनता है। मस्तिष्क के सक्रिय रहने से ही शरीर स्वस्थ रहता है। मनुष्य इस देह का सही उपयोग नहीं कर पा रहा है। जीवन के ध्येय को लेकर इंसान असमंजस की स्थिति में रहते हैं। लक्ष्य के बिना कर्म व्यर्थ है। मानव का शरीर आकार है जबकि ज्ञान निराकार है।
प्रतिदिन दो सत्र सुबह साढ़े छह से साढ़े आठ बजे तक एवं शाम साढ़े छह से रात साढ़े आठ बजे तक आयोजित शिविर के दौरान पहले तीन दिन शरीर की शक्तियों के आभास के बारे में शिविरार्थियों को परमआलय महाराज ने बताया। बुधवार से अगले तीन दिन वे मन की शक्तियों के आभास के बारे में बताएंगे और बाद के तीन दिन में चेतना की शक्तियों के आभास के बारे में बताया जाएगा। शिविर के अंतिम दसवें दिन नौ दिन में सृजित ऊर्जा को टिकाए रखने का प्रयोग महाराज बताएंगे।


जीवन के बनाए शक्तिशाली


शिविर में महाराज ने बताया कि ज्ञान और विज्ञान के सदुपयोग से शरीर, मन और चेतना को शक्तिशाली बनाने की जीवन शैली सन टू ह्यूमन मिलन साधना शिविर है। सही आहार, सही व्यायाम व सही ध्यान के माध्यम से जीवन शक्तिशाली बनाया जा सकता है। शरीर में छिपी चुंबकरुपी शक्ति जितनी शक्तिशाली होगी, दिमाग उतना ही सक्षम होगा। शरीर से जितना कार्बन निकलेगा, चुंबक उतना ही मजबूत होगा।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned