जानें क्यों तान नदी का कोजवे हो गया खतरनाक

जानें क्यों तान नदी का कोजवे हो गया खतरनाक

Sunil Mishra | Publish: Aug, 13 2019 08:24:01 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

बड़े-बड़े गड्ढे पड़े, वाहन चालकों के लिए चलना हुआ मुश्किल
पिछले 27 दिनों से पानी में डूबा रहा यह पुल


खेरगाम. खेरगाम तहसील के सिमनपाड़ा गांव की तान नदी का कोजवे पिछले 27 दिनों से पानी में डूबा रहने से धरमपुर तहसील के मर्घमाल गांव सहित अनेक गांवों सम्पर्क विहीन बने हुए थे। इस कोजवे से आने जाने वाले वाहन चालकों को पानी ज्यादा होने से 15 किमी से भी ज्यादा घूमकर आने को मजबूर होना पड़ा। ऊपरी विस्तार में बरसात का जोर कम होने से कोजवे के ऊपर से पानी का प्रवाह तो कम हो गया, लेकिन 27 दिन तक लगातार पानी चलने से कोजवे पर बड़े-बड़े गड्ढे पड़ गए हैं। इस कारण यहां पर कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है।
धरमपुर तहसील के मर्घमाल, विरवल, भाभा सहित कई गांवों के लोगों का व्यवहार खेरगाम के साथ जुड़ा हुआ है। लोगों के आने जाने का एकमात्र रास्ता होने के कारण लोग अपनी जिंदगी को जोखम में डालकर भी इस रास्ते से आने जाने को मजबूर हैं।

 

patrika

 

जल्दी से जल्दी इस कोजवे को रिपेयर किया जाए

ग्रमीणों की मांग है कि जल्दी से जल्दी इस कोजवे को रिपेयर किया जाए तो तो दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है। चिमनपाड़ा गांव की सरपंच के पति ने बताया कि पिछले 27 दिन से कोजवे पर से पानी चल रहा था। इस कारण कोजवे क्षतिग्रस्त हो गया है। वहां से मोटरसाइकिल भी नहीं जा पा रही है। लोगों को 15 किमी से भी ज्यादा घूम कर जाना पड़ रहा है कोजवे को ऊंचा करने की अनेक बार मांग करने के बावजूद आज तक सरकार ने बात नही सुनी। रात्रि के दौरान कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है।
मर्घमाल गांव के रमण पटेल ने बताया कि यह कोजवे हर वर्ष पानी में डूब जाता है। इससे लोगों को अनेक मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned