तेंदुए की मौत पर संशय

वन विभाग ने ब्रेन हेमरेज को बताया कारण, लोग बोले-बेहोशी के इंजेक्शन का ओवरडोज

By: विनीत शर्मा

Published: 03 Mar 2019, 09:17 PM IST

वलसाड. कपराडा तहसील के मोटापोंढा में शनिवार को वन विभाग द्वारा पिंजरे में कैद किए तेन्दुए की देर रात मौत हो गई। वन विभाग ने ब्रेन हेमरेज को मौत का कारण बताया है।

जानकारी के अनुसार जाल में तेन्दुआ फंस गया था। शनिवार सुबह जानकारी मिलने पर वन विभाग ने नवसारी से स्पेशल टीम बुलाकर तेन्दुए को बेहोशी का इंजेक्शन देने के बाद पिंजरे में कैद किया था। वन विभाग मुख्यालय लाकर उसका इलाज किया गया। देर रात उसकी मौत हो गई।

इस मामले में कपराडा वन विभाग के अधिकारी एनके राठवा ने बताया कि जाल में फंसने के बाद तेन्दुए को निकालने के लिए बड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। इस दौरान उसके सिर में चोट लगने से उसकी मौत होने की जानकारी पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में आई है। वहीं लोगों के बीच यह चर्चा है कि बेहोशी वाले इंजेक्शन का ओवरडोज तेन्दुए की मौत का कारण है।

उल्लेखनीय है कि जिले के आवासीय क्षेत्रों में तेन्दुआ दिखना आम बात हो गई है। वन विभाग द्वारा तेन्दुआ पकडऩे में सही तरीका न अपनाने से कई बार उनकी मौत हो जाती है। इससे वन विभाग को आधुनिक उपकरणों से सज्ज करने की मांग होती रही है।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned