कोरोना के बीच तेंदुओं का आतंक

सूरत तापी जिले के अलग-अलग गांवों में तेंदुआ दिखाई देने से लोगों में दहशत


Panic among people due to leopard sighting in different villages of Surat Tapi district

By: Sunil Mishra

Published: 23 Apr 2020, 10:13 PM IST

बारडोली. कोरोना के हाहाकार के बीच सूरत और तापी जिले में तेंदुए ने भी आतंक मचा रखा है। जिले के कई गांवों में तेंदुए दिखाई दे रहे हैं। कई गांवों में पालतू पशु एवं श्वानों का शिकार किए जाने पर ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।
बारडोली तहसील के ताजपोर गांव के वैजनाथ मंदिर के समीप तेंदुए ने एक तीन श्वानों का शिकार किया है। बारडोली तहसील के ही जूनी किकवाड़ गांव के गभाण फलिया में तेंदुआ आए दिन मुर्गियों को शिकार बना रहा है। बारडोली के निकट वधावा गांव में पेपर मिल के पीछे खेत में पानी देने गए मिनेश पटेल को रात को तेंदुआ दिखाई दिया। नसुरा में भी खेत में तेंदुए के तीन बच्चे मिले। सिंगोड़ गांव से भी तेंदुए के बकरी का शिकार करने की जानकारी सामने आई है। इन घटनाओं ने लोगों में दहशत पैदा कर दी है। लोग अकेले और निहत्थे घर से बाहर निकलने से डरने लगे हैं।
यह सिलसिला यहीं नहीं थम रहा। कामरेज तहसील नवी पारडी गांव के पास इम्तियाज बेलिम के गन्ने के खेत में मादा तेंदुआ अपने दो बच्चों के साथ दिखाई दी। इसके बाद बेलिम ने गन्ना कटाई रोक दी। कठोर गांव के मान सरोवर प्रोजेक्ट में दीवार पर बैठा एक तेंदुआ दिखाई दिया। तापी जिला की वालोड तहसील के मोरदेवी गांव, बुहारी, महुवा तहसील के मुडत गांव में भी तेंदुआ दिखाई देने से ग्रामीणों में दहशत फैल गई। जहां-जहां तेंदुआ दिखाई दिया है, लोग वन अधिकारियों और फ्रेंड्स ऑफ एनिमल वेलफेयर ट्रस्ट के सदस्यों के साथ इन जानकारियों को साझा कर रहे हैं। ट्रस्ट के अध्यक्ष जतिन राठौड़ ने बताया कि सूरत-तापी जिला के कई गांवों से तेंदुआ दिखाई देने और पालतू पशुओं का शिकार करने के कॉल आ रहे हैं। ट्रस्ट ने नाइट विजन कैमरा रखा है। साथ ही वन विभाग के साथ मिलकर पिंजरा भी रखा गया है। वन विभाग ने भी तेंदुए को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया है।

https://www.patrika.com/rajnandgaon-news/rajnandgaon-leopard-caught-by-forest-department-1169462/

Show More
Sunil Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned