मतदान के दौरान गोडादरा में टेम्पो से बरामद हुई शराब

- पुलिस ने शराब तस्करी के आरोप में दो जनों को गिरफ्तार किया

- कारोबारी रंजिश में ट्रैवल एजेंसी के संचालक पर हमला

- जॉब वर्क व्यापारी से 16.56 लाख रुपए की ठगी

 

By: Dinesh M Trivedi

Published: 23 Feb 2021, 01:43 PM IST

सूरत. मनपा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के बाद से शराब माफियाओं के खिलाफ सक्रिय हुई पुलिस के तमाम प्रयासों के बावजूद रविवार को मतदान के दिन गोड़ादरा तिराहे पर एक टेम्पो से अंग्रेजी शराब की खेप बरामद हुई है। पुलिस ने शराब तस्करी के आरोप में दो जनों को गिरफ्तार किया है तथा दो अन्य को वांछित घोषित किया है।

पुलिस के मुताबिक वराछा खोडीयार सोसायटी निवासी मयुर पटेल, पुणागाम महालक्ष्मी सोसायटी निवासी कल्पेश सावलिया एक टेम्पो में अंग्रेजी शराब की 288 बोतलों की तस्करी कर रहे थे। उन्हें रविवार शाम गोडादरा तिराहे पर रोका और टेम्पो समेत शराब जब्त कर गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने बताया कि वे वराछा हीराबाग के बूटलेगर जगदीश रादडिया के यहां से शराब की खेप लेकर आए थे और डिंडोली में महेन्द्र नाम के बूटलेगर को पहुंचाने जा रहे थे।

कारोबारी रंजिश में ट्रैवल एजेंसी के संचालक पर हमला

सूरत. दिल्ली गेट इलाके में कारोबार रंजिश के चलते दो जनों ने एक ट्रैवल एजेन्सी के संचालक पर कुर्सी से हमला कर उसे जख्मी कर दिया और धमकी देकर फरार हो गए। पुलिस के मुताबिक, गोडादरा जलारामनगर निवासी पीडि़त हरिप्रकाश लालजी तिवारी पर अल्लू व हनीफ नाम के दो ट्रैवल एजेन्टों ने हमला किया। हरिप्रकाश दिल्ली गेट के निकट स्थित अपनी एमएस ट्रेवल्स दुकान पर काम कर रहे थे।

उस दौरान अल्लू व हनीफ ने उनकी दुकान के सामने बैठकर काम शुरू कर दिया। वे हरिप्रकाश के ग्राहकों को बीच में अपनी तरफ कर रहे थे। हरिप्रकाश ने इस पर आपत्ति जताई और उन्हें अपनी दुकान के सामने से हटने के लिए कहा। इस बात पर उन्होंने झगड़ा शुरू कर दिया और लोहे की कुर्सी हरिप्रकाश पर वार किया। दोनों उससे मारपीट की और फिर देख लेने की धमकी देकर फरार हो गए। घायल हरिप्रकाश की प्राथमिकी के आधार पर महिधरपुरा पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

जॉब वर्क व्यापारी से 16.56 लाख रुपए की ठगी

सूरत। सलाबतपुरा पुलिस सेशन में 16.56 लाख रुपए की ठगी का मामला दर्ज किया गया है। डोभाल के ऋषि विहार टाउनशिप में रहने वाले शिकायतकर्ता रितेश श्रवण कुमार तुलसियान ने बताया कि कमीशन एजेंट अंकित कुमार तथा व्यापारी कैलाश भदानी ने मिलकर उसे अपने बातों में फंसाया और पहले से ही इन्होंने ठगी करने का इरादा बनाया हुआ था।

दोनों आरोपी ने शिकायतकर्ता को अपने भरोसे में लिया और उसकी अंबाजी फैशन से 21 दिसंबर 2019 से लेकर 14 जुलाई 2020 तक सिंथेटिक साड़ी का ऑर्डर देकर जॉब वर्क का काम करवाया और माल अपने रिद्धि टेक्सटाइल फर्म में रख लिया। शिकायतकर्ता को आरोपियों के पास से कुल 16.56 लाख रुपए वसूलने थे।

लेकिन उन्होंने अलग-अलग दिन पर देने का वायदा किया था। कुछ समय के बाद आरोपियों ने गुस्से में शिकायतकर्ता के साथ गाली-गलौज की और धमकाया कि अगर वह पेमेंट मांगने के लिए आया था उसके हाथ पैर तोड़ कर जान से मार देंगे। दोनों आरोपियों ने शिकायतकर्ता के जॉब वर्क का पैसा नहीं चुकाया। इसके बाद आरोपियों ने अपना दुकान और फोन भी बंद कर दिया था।

Dinesh M Trivedi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned