लव यू बेटा और जयश्री कृष्ण बोल, मासूम को फेंका नदी में

नीव प्रकरण में आरोपी पिता का दिल दहलाने वाला एक और कबूलनामा
पुलिस के बाद पत्नी को बताया वारदात का सच , पांच दिन के रिमांड पर

By: Sandip Kumar N Pateel

Published: 20 Jul 2018, 09:23 PM IST

बारडोली. वणेसा गांव के मासूम नीव प्रकरण में आरोपी निशित पटेल ने पत्नी ब्रेना के समक्ष एक और दिल दहलाने वाला खुलासा किया। उसने बताया कि बच्चे को नदी में फेंकने से उसने बोरी में लपेटा और नांदिड़ा गांव के पास स्थित मिंढोला नदी के पुल पर ले आया। यहां वाहन और लोग नहीं दिखने पर नीव को लव यू बेटा और जयश्री कृष्णा बोलकर पुल से नीचे नदी में फेंक दिया। इस कबूलनामे के बाद ब्रेना ने अलग से निशित के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई। इस बीच पुलिस ने आरोपी को शुक्रवार शाम पलसाना कोर्ट में पेश कर 12 बिन्दुओं की जांच के लिए दस दिन का रिमांड मांगा, लेकिन कोर्ट ने महज पांच दिन का रिमांड मंजूर किया। पुलिस ने बीती रात पलसाना थाने में उसके खिलाफ हत्या, सबूतों को नष्ट करने, पुलिस को गुमराह करने और हत्या का षडयंत्र रचने समेत कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया।

 

इधर, एक दिन पहले पलसाना थाने का घेराव करने वाले आठ गांवों के ग्रामीणों में वारदात को लेकर गुस्सा बरकरार है। आरोपी निशित के कबूलनामे के बाद लोग उसको धिक्कार रहे हैं। मासूम नीव के बारे में सोचकर उनकी आंखों से आंसू बह रहे हैं। वारदात के बाद निशित के परिवार के साथ बड़ा पुत्र जो नवसारी के हॉस्टल में पढ़ रहा है, सकते में हैं।

 

एसपी कार्यालय में ब्रेना के सामने टूटा निशित


जिला पुलिस अधीक्षक कार्यालय में गुरुवार रात निशित और ब्रेना आमने-सामने हुए। ब्रेना ने निशित से सच बताने के बाद माफी देने की बात कही। यह भी कहा कि नीव पसंद नहीं है तो वह अपने भाई को उसे सौंप देगी, जिसके पहले से दो बेटियां हैं। इसके बाद बिना शिकायत करे, उसके साथ भी रहेगी। ब्रेना की गुहार सुनकर निशित टूट गया। उसने बताया, मुझे जन्म से नीव पसंद नहीं था। दो बेटों के लिए ज्यादा सम्पत्ति एकत्र करनी पड़ती, इसलिए बेटी चाहिए थी। गत १५ दिनों से इन बातों को लेकर परेशान था तो नीव को ठिकाने लगाने का मन बना लिया।



इस तरह फेंका मासूम को नदी में


निशित वारदात वाले दिन नीव को काफी पहले बाल मंदिर लेकर गया। वहां कोई बच्चा नहीं आने से बारडोली चला गया। मिंढोला नदी के ब्रिज पर पानी दिखाकर फिर कार में बैठाकर आगे रवाना हो गया। कार में नीव को सर्दी लगी तो उसने खाद की बोरी ओढ़ा दी। इसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-53 पर नांदिड़ा गांव के निकट मिंढोला नदी के ब्रिज पर पहुंचा और दीवार के पास खड़ा होकर आस-पास देखा। मौका देखकर नीव को नदी के तेज प्रवाह के बीच फेंक दिया। पलक झपकते ही मासूम बहाव के बीच लापता हो गया।

 

निशित के माता-पिता को पता था, चुप क्यों रहे


ब्रेना के सामने निशित ने एक और बात स्वीकारी। नीव को नदी में फेंकने के बाद उसने अमरीका से आ रहे अपने माता-पिता और बुआ के बेटे चिराग को पूरी सच्चाई बता दी थी। इसके बावजूद उन्होंने इसके बारे में न तो पुलिस को बताया न ही किसी जानकार, परिचित या रिश्तेदार को। ऐसे में उनकी चुप्पी पर भी गंभीर सवाल उठ रहे हैं।

 

नदी में बच्चे की तलाश जारी


निशित के कबूलनामे के बाद शुक्रवार को फिर पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने मिंढोला नदी में बच्चे की तलाश शुरू की। टीम ने नदी के दोनों छोर के साथ बीच के हिस्से में भी बच्चे को ढूंढने का प्रयास किया, लेकिन अब तक कोई सुराग हाथ नहीं लगा। गत दो दिनों से लगातार हो रही बरसात के कारण नदी का जलस्तर और बढ़ गया। जलप्रवाह तेज होने से भी तलाशी अभियान में दिक्कतें आ रही हैं। टीम ने शुक्रवार शाम तक नांदिड़ा से ताजपोर गांव के बीच खोजबीन की।

 

बेटी की चाह में ऐसा किया? गले नहीं उतर रही बात


आरोपी निशित ने अपने कबूलनामे में पुलिस को बताया कि उसने बेटी की चाहत पूरी नहीं होने के बाद ऐसी जघन्य वारदात को अंजाम दिया। लेकिन उसका यह बयान किसी के भी गले नहीं उतर रहा है। परिचित और जानकार साफ कह रहे हैं कि यह भी निशित की बनाई कोई काल्पनिक कहानी है, क्योंकि उसने अपने फेसबुक प्रोफाइल पर बीते ढाई वर्ष में बेटे के समर्थन में बहुत सारी पोस्ट शेयर की। फिर अचानक ऐसा क्या हुआ कि उसके दिल में मासूम नीव को लेकर ऐसी नफरत पैदा हो गई? इस सवाल का जवाब आना अभी बाकी है। निशित की एफबी वॉल पर ऐसे कई फोटो अपलोड हैं, जिसमें वह पुत्र नीव के साथ प्यार के साथ प्यार जताते हुए दिख रहा है।

 

इन सवालों के जवाब मिलना बाकी


अभी तक मासूम नीव का पता नहीं चला है। वह नदी में नहीं मिला तो कहां गया?
नीव के साथ हुए अपराध में क्या कोई अन्य भी निशित के साथ शामिल है?
यदि नीव जिन्दा है तो उसको किस स्थान पर छिपाया गया है?
आरोपी नई-नई कहानियां बनाकर पुलिस को क्यों गुमराह कर रहा है?
क्या प्रकरण से जुड़े कुछ और तथ्य भी हैं जो पुलिस के सामने नहीं आए हैं?
ढाई साल तक जिस मासूम बच्चे को सीने से लगाकर रखा, अचानक क्यों उसे नदी में फेंक दिया?
आरोपी को कौनसी बातें ऐसी पता चलीं कि नीव से नफरत हो गई?

Sandip Kumar N Pateel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned