scriptMafia using children and women to enter drugs in Gujarat | NDPS : गुजरात में मादक पदार्थ घुसाने के लिए माफिया कर रहे बच्चों और महिलाओं का उपयोग | Patrika News

NDPS : गुजरात में मादक पदार्थ घुसाने के लिए माफिया कर रहे बच्चों और महिलाओं का उपयोग

- मौका ए सावधान
- सूरत समेत गुजरात में नशे के सौदागरों के खिलाफ सख्ती बढऩे पर माफिया अपना रहे नए नए पैंतरे

 

सूरत

Published: December 02, 2021 10:04:54 pm

दिनेश एम.त्रिवेदी
सूरत. पुलिस कुछ समय से सूरत समेत पूरे प्रदेश में पुलिस ने नशे के सौदागरों के खिलाफ विशेष अभियान छेड़ रखा है। जिसके चलते माफियाओं के लिए गांजा, अफीम, चरस समेत अन्य राज्यों से होने वाली मादक पदार्थो की तस्करी आसान नहीं रही। लेकिन माफिया भी पुलिस को गच्चा देने के लिए नए नए पैंतरे आजम रहे है। अब वे मादक पदार्थो की तस्करी के लिए महिलाओं और बच्चों का उपयोग कर रहे ताकि पुलिस को चकमा देकर नशे की खेप अपने गुप्त ठिकानों तक पहुंचा सके।
NDPS : गुजरात में मादक पदार्थ घुसाने के लिए माफिया कर रहे बच्चों और महिलाओं का उपयोग
NDPS : गुजरात में मादक पदार्थ घुसाने के लिए माफिया कर रहे बच्चों और महिलाओं का उपयोग
ओडिसा से गांजे की तस्करी करने वालों के साथ दो महिलाओं के पकड़े जाने के बाद अब राजस्थान से अफीम की खेप लेकर आए नौवीं कक्षा के एक बालक के पकड़े जाने का मामला सामने आया है। पुणागाम पुलिस ने उससे स्कूल में बैग में छिपा रखा 1.98 लाख रुपए का अफीम बरामद किया है।
पुणागाम पुलिस के मुताबिक नौवीं कक्षा में पढऩे वाले सोलह वर्षीय छात्र को राजस्थान के चितौडग़ढ़ जिल के इटावा गांव निवासी वांछित आरोपी गोपाल शर्मा ने अफीम की खेप देकर सूरत भेजा था। वह राजस्थान से निजी बस में सवार होकर कडोदरा आया था। फिर कड़ोदरा रोड पर पुणागाम थानाक्षेत्र में स्थित नियोल चेक पोस्ट से पैदल ही शहर में घुसने का प्रयास कर रहा था।
उसके बारे में मुखबिर से पुख्ता सूचना मिलने पर नियोल चैक पोस्ट से उसे पकड़ा गया। उसके पास मिले काले रंग के स्कूल में बैग में 1.98 किलोग्राम अफीम के अलावा दो मोबाइल फोन, पानी की बोतल व आधारकार्ड बरामद हुआ।
अफीम पहुंचाने पर पांच हजार देने का किया था वादा

पुलिस ने बताया कि आरोपी छात्र को गोपाल शर्मा ने अफीम की खेप सूरत पहुंचाने पर पांच हजार रुपए देने का वादा किया था। हालांकि गोपाल ने सूरत में अफीम किसको पहुंचाना है उसका नाम नहीं बताया था। उसने कहा था कि सूरत पहुंच कर फोन करना। जिसको अफीम पहुंचाना है वह खुद फोन करके तुम से अफीम ले लेगा। छात्र से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे बालसुधार गृह भेज दिया। वहीं गोपाल को पकडऩे के लिए एक टीम राजस्थान भेज दी है।
गांजा तस्करी के मामले में दो महिलाओं के बाद दो और गिरफ्तार

इससे पूर्व एसओजी ने ओडिसा से गांजे की तस्करी महिलाओं के उपयोग का खुलासा किया था। ओडिसा से ट्रेन में गांजे की खेप लेकर आए हनुमान बेहरा व कालिया पहान को दो महिलाओं के साथ पकड़ा था। उनके कब्जे से चार लाख का गांजा जब्त किया था। गांजे की तस्करी के दौरान पुलिस को झांसा देने के लिए उन्होंने रुपए देने का वादा कर महिलाओं को साथ लिया था। सूरत में वे गांजे की खेप लसकाणा प्रमुनगर सोसायटी निवासी महिला अहिल्या शाहू व पुणागाम छितूनगर निवासी किशोर जसाणी को पहुंचाने वाले थे। इन दोनों के बारे में जानकारी मिलने पर एसओजी ने गुरुवार दोनों को गिरफ्तार कर लिया।
इनका कहना

पुलिस मुश्तैद, माफिया नहीं होंगे सफल

पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है। सूरत शहर को नशा मुक्त बनाने की दिशा में सभी तरह के प्रयास किए जा रहे है। ड्रग माफिया भले ही किसी भी तरह के पैंतरे अपनाए उन्हें अपने मंसूबों में सफलता नहीं मिलेगी। पिछले एक-डेढ़ वर्ष में पूरे गुजरात में सूरत शहर पुलिस ने ही सबसे अधिक मामले दर्ज किए है।
- अजय तोमर (शहर पुलिस आयुक्त)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूUP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'अलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौतीधोनी का पहला प्यार है Indian Army, 3 किस्से जो लगाते हैं इस बात पर मुहर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.