MAHASHIVRATRI NEWS: नौ लाख रुद्राक्ष से बना 15 फीट ऊंचा शिवलिंग

धरमपुर के निकट महाशिवरात्रि अनुष्ठान की शुरुआत, सूरत में भी दो बार हो चुका है यह अनुष्ठान

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 05 Mar 2021, 08:16 PM IST

सूरत. भगवान भोलेनाथ के विशेष पर्व महाशिवरात्रि के उपलक्ष में दक्षिण गुजरात के वनवासी बहुल धरमपुर के निकट खारवेल में नौ लाख रुद्राक्ष से सवा पंद्रह फीट ऊंचे रुद्राक्ष शिवलिंग के कपाट खुल गए हैं। यहां पर नौ दिवसीय महाशिवरात्रि अनुष्ठान की शुरुआत शिव कथाकार बटुक व्यास के सानिध्य में गुरुवार से शुरू हो गया।
वर्ष 2013 व 2017 में महाशिवरात्रि अनुष्ठान का आयोजन सूरत महानगर में सिटीलाइट क्षेत्र में रिया पार्टी प्लॉट व पार्ले पोइंट क्षेत्र में श्रद्धालु कपड़ा व्यापारी व अन्य लोगों के सहयोग से सम्पन्न हो चुके हैं। उस दौरान यहां पर निर्मित रुद्राक्ष शिवलिंग की ऊंचाई 25 फीट से अधिक थी। अनुष्ठान के दौरान रुद्राक्ष महाशिवलिंग दर्शन व अभिषेक, 11 कुंडीय महारुद्र यज्ञ व शिवकथा के आयोजन किए जा रहे हैं। गुरुवार से प्रारम्भ होकर महाशिवरात्रि 11 मार्च तक धरमपुर के निकट खारवेल में आयोजित महाशिवरात्रि अनुष्ठान के दौरान महाशिवलिंग दर्शन व अभिषेक, सुबह-शाम दो सत्र में 11 कुंडीय महारुद्र यज्ञ व अपराह्न 3 से शाम 6 बजे तक शिवकथा के आयोजन शामिल है और इनकी विधिवत शुरुआत गुरुवार से की गई। इस मौके पर भागवताचार्य शरद व्यास, पंकज व्यास, भरत व्यास समेत अन्य कई आमंत्रित मेहमान मौजूद थे। धरमपुर के निकट आयोजित महाशिवरात्रि अनुष्ठान में शामिल होने के लिए सूरत से भी श्रद्धालुओं के जाने का सिलसिला शुरू हो गया है।

-35वां महाशिवरात्रि अनुष्ठान

महाशिवरात्रि अनुष्ठान के बारे में कथाकार बटुक व्यास ने बताया कि यह 35वां महाशिवरात्रि अनुष्ठान है और 11 ईंच से सवा 35 फीट ऊंचे रुद्राक्ष महाशिवलिंग का निर्माण सम्पन्न हो चुका है। सवा 35 फीट ऊंचा महाशिवलिंग का निर्माण 30 लाख रुद्राक्ष से गतवर्ष भुज में किया गया था और इससे पहले सूरत में दो बार, राजस्थान के चित्तोडग़ढ़, किशनगढ़ व ओसियां, मुंबई, ऋषिकेश आदि स्थलों पर भी अनुष्ठान किया जा चुका है।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned