रक्षा के क्षेत्र में मेक इन इंडिया की भागीदारी बढ़ी : राजनाथ सिंह

हजीरा में होवित्जर गन का लोकार्पण

सूरत.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का कहना है कि वह रक्षा क्षेत्र में प्रधानमंत्री के मेक इन इंडिया के सपने को सच होता देख रहे हैं। भारत में रक्षा के क्षेत्र में मेक इन इंडिया की भागीदारी बढ़ रही है।
सूरत के हजीरा में एल एंड टी कंपनी में बनी के-9 वज्र-टी होवित्जर गन का गुरुवार को लोकार्पण करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि पहले रक्षा क्षेत्र में प्राइवेट सेक्टर को इजाजत नहीं थी, इसलिए हमें आयात करना पड़ता था, लेकिन अब भारत आत्म निर्भरता की ओर बढ़ रहा है। रक्षा क्षेत्र में निवेश बढ़े, इसलिए डिफेंस इन्वेस्टर सेल बनाया गया है। यहां इन्वेस्टमेंट से जुड़ी समस्याओं का हल किया जाएगा। के-9 वज्र -टी होवित्जर गन के बारे में उन्होंने बताया कि यह गन भारत में ही बनाई गई है। भारत सरकार की ओर से 100 गन के ऑर्डर दिए गए थे। इनमें से 51 गन समय के पहले मिल गईं। गन के लिए आवश्यक 80 प्रतिशत उपकरण स्वदेश में बने हैं। इस मौके पर एल एंड टी के ग्रुप चेयरमैन ए.एम. नायक ने कहा कि हजीरा उत्पादन संकुल विभिन्न अंतरराष्ट्रीय टैक्नोलॉजी और मापदंड के पैमाने पर खरा है। अद्यतन हथियार बनाना और समय पर डिलीवरी करना हमारी क्षमता बताता हैै। एल एंड टी के सीनियर इवीपी जे.डी. पाटिल ने कहा कि हम भारत के भविष्य के आम्र्ड प्लेटफॉर्म बनाने के लिए तैयार हैं। स्ट्रेटेजिक पार्टनरशीप मॉडल को आधार बनाकर हम नई टैक्नोलॉजी वाले हथियार बनाने और प्लेटफॉर्म तैयार करने के लिए उत्सुक हैं।

Pradeep Mishra Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned