बहरूपियों की नहीं राष्ट्रवादियों की सरकार बनाएं

नौ साल पहले सूरत शहर से षड्यंत्र के तहत महाराष्ट्र एंटी टेरेरिस्ट स्कवॉड मुझे उठा ले गई थी। लाख प्रताडऩा के बावजूद उनकी मंशा पूरी नहीं हो...

By: मुकेश शर्मा

Published: 25 Apr 2018, 05:01 AM IST

सूरत।नौ साल पहले सूरत शहर से षड्यंत्र के तहत महाराष्ट्र एंटी टेरेरिस्ट स्कवॉड मुझे उठा ले गई थी। लाख प्रताडऩा के बावजूद उनकी मंशा पूरी नहीं हो पाई। इस देश में बहरूपियों की नहीं, बल्कि राष्ट्रवादियों की सरकार बनानी चाहिए। यह बात साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मंगलवार को सूरत में स्वागत समारोह में कही।

उन्होंने कहा कि जिन्हें जनेऊधारी कहा जा रहा है, वह कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया का नाम तो भाषण में ढंग से नहीं ले पाते। वह कहां प्रधानमंत्री बनेंगे...वह सपने ही देखें । वह तो ड्रामेबाज हैं, नोटंकीबाज हैं। ऐसे बहरूपियों की सरकार की देश को जरूरत नहीं है। आगे भी राष्ट्रवादियों की सरकार बननी चाहिए ।

विहिप नेता डॉ. प्रवीण तोगडिय़ा के बारे में साध्वी ने कहा कि वह राष्ट्रवादी हैं और सदैव राष्ट्र के प्रति समर्पित भाव से काम करते रहेंगे। संगठन की प्रक्रिया के बारे में ज्यादा नहीं जानती, इसलिए उसके बारे में कुछ भी कहने की हालत में नहीं हूं। जोधपुर जेल में बंद आसाराम के मामले में हाइकोर्ट का निर्णय बुधवार को आएगा। साध्वी ने इस बारे में कहा कि वह निर्दोष हैं। आसाराम की विजय होगी। उन्हें न्याय मिले, इसके लिए भगवान से प्रार्थना करूंगी।

कठुआ कांड षड्यंत्र

साध्वी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रवादियों की पहुंच और बढ़ती ताकत को देख विधर्मियों ने कठुआ कांड का जाल बुना। यह हिन्दू समाज को बदनाम करने की सुनियोजित साजिश है। बच्ची हिन्दू-मुस्लिम नहीं, केवल बच्ची होती है। ऐसे घृणित षड्यंत्र से देश को बचाना होगा । इसके लिए राष्ट्रवादियों को जागना पड़ेगा ।

संतान बढ़ाने पर जोर

साध्वी ने कहा कि राष्ट्रवादियों को देश और समाज की सुरक्षा के लिए परिवार की वृद्धि की तरफ भी सक्रिय होकर सोचना पड़ेगा। समाज और राष्ट्र सुरक्षा की जिम्मेदारी राष्ट्रवादियों पर ही है तो फिर उन्हें अपनी संख्या भी समाज और देशहित में बढ़ानी चाहिए।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned