हिन्दी विभाग के लिए मांगा सहयोग

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 13 2017 09:12:39 PM (IST)

Surat, Gujarat, India
हिन्दी विभाग के लिए मांगा सहयोग

वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में हिन्दी विभाग के निर्माण की पहल शुरू हो गई है। हिन्दी विभाग के लिए विश्वविद्यालय ने अग्रवाल विकास ट्रस्ट के स

सूरत।वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में हिन्दी विभाग के निर्माण की पहल शुरू हो गई है। हिन्दी विभाग के लिए विश्वविद्यालय ने अग्रवाल विकास ट्रस्ट के सहयोग मांगा है। अग्रवाल समाज इस बारे में बोर्ड की मीङ्क्षटग में चर्चा कर फैसला करेगा। कुलपति ने आर्किटेक्चर विभाग को हिन्दी विभाग की रूपरेखा और ढांचे की रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया है।


वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय में हिन्दी विभाग नहीं होने पर राजस्थान पत्रिका ने अभियान चलाया था। अभियान का असर यह हुआ कि केन्द्र सरकार और विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने वीएनएसजीयू में हिन्दी विभाग की मंजूरी के साथ एक करोड़ रुपए का अनुदान दिया, लेकिन राज्य सरकार की उदासीनता के कारण विभाग शुरू नहीं हो पाया।



सलिए राजस्थान पत्रिका ने पुन: ‘क्या हुआ तेरा वादा’ अभियान चलाया। इसके बाद नए कुलपति डॉ.शिवेन्द्र गुप्ता ने हिन्दी विभाग के लिए कवायद शुरू की। ओलपाड के नरथाण में महाराजा अग्रसेन कॉलेज के भूमि पूजन के मौके पर राज्य के शिक्षा मंत्री भूपेन्द्र सिंह चूडासमा के समक्ष कुलपति ने हिन्दी विभाग को मंजूरी देने की गुजारिश की। साथ ही, भवन निर्माण के लिए समाज से सहयोग की अपील की गई। कुलपति की अपील पर अग्रवाल विकास ट्रस्ट के अध्यक्ष अनिल अग्रवाल ने खुले मंच से कहा था कि अग्रवाल विकास ट्रस्ट हिन्दी विभाग के लिए सहयोग देगा। इसी के मद्देनजर वीएनएसजीयू ने अग्रवाल विकास ट्रस्ट को हिन्दी विभाग के निर्माण के लिए सहयोग का पत्र
लिखा है।

कुलपति ने विश्वविद्यालय के आर्किटेक्चर विभाग के प्राध्यापकों के साथ बैठक में देश के विश्वविद्यालयों के हिन्दी विभागों का सर्वे करने को कहा है। इस सर्वे के आधार पर हिन्दी विभाग की रूपरेखा और ढांचा तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

सहयोग जरूरी

&हिन्दी विभाग के लिए समाज के सहयोग की आवश्यक्ता है। अग्रवाल विकास ट्रस्ट ने सहयोग की घोषणा की थी, इसलिए उसे पत्र लिखा गया है। अन्य भी सहयोग देना चाहें तो सामने आ सकते हैं। आर्किटेक्चर विभाग को ढांचे की रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया है। सब तैयार हो जाने पर सरकार को आवेदन किया जाएगा।डॉ. शिवेन्द्र गुप्ता, कुलपति, वीएनएसजीयू

वादा पूरा करेंगे

&खुले मंच पर हिन्दी विभाग के लिए सहयोग देने का वादा किया है, जो पूरा किया जाएगा। वीएनएसजीयू का पत्र मिल गया है। अग्रवाल विकास ट्रस्ट की बोर्ड मीङ्क्षटग में इस पर चर्चा कर फैसला किया जाएगा।अनिल अग्रवाल, अध्यक्ष, अग्रवाल विकास ट्रस्ट

Ad Block is Banned