कोरोना संक्रमण के प्रति मुस्तैद हो गए मार्केट

पड़ताल का असर...तीन-चार दिन पहले तक कपड़ा बाजार में कोविड-19 की गाइडलाइन का नहीं था कई जगहों पर पालन

By: Dinesh Bhardwaj

Published: 29 Jun 2020, 08:50 PM IST

सूरत. स्थानीय प्रशासन ने महानगर में बढ़ते कोरोना संक्रमण मामले में हीरा व कपड़ा उद्योग में गंभीरता बरतने के निर्देश पहले से ही दिए हैं, बावजूद इसके कपड़ा बाजार में कोविड-19 गाइडलाइन के प्रति काफी सुस्ती छाई हुई थी। इस मामले में राजस्थान पत्रिका ने 27 जून को ही कपड़ा बाजार की पड़ताल करते हुए एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी और उसमें बताया था कि किस तरह से हजारों लोगों की दिनभर रहने वाली चहल-पहल के केंद्र कपड़ा बाजार के टैक्सटाइल मार्केट में कोविड-19 की गाइडलाइन के प्रति उदासीनता बरती जा रही है। शुक्रवार को प्रकाशित पड़ताल स्टोरी के बाद नए सप्ताह में सोमवार को जैसे ही रिंगरोड कपड़ा बाजार चालू हुआ तो दोपहर में भी पत्रिका टीम टोह लेने निकली। इसमें पता चला कि राजस्थान पत्रिका में प्रकाशित पड़ताल स्टोरी के बाद कपड़ा बाजार में टैक्सटाइल मार्केट प्रबंधन समिति व ट्रेडर्स एसोसिएशन सक्रिय हो गई है। दोपहर डेढ़ बजे करीब सहारा दरवाजा के निकट जस टैक्सटाइल मार्केट में थर्मल गन से टेम्प्रेचर चैक किेए बगैर किसी की इंट्री नहीं हो रही थी, जबकि पिछली तस्वीर में मार्केट के एक्जिट गेट से बगैर जांच लोग अंदर जा रहे थे।
इसी तरह से रेशमवाला मार्केट में भी सोमवार को सुरक्षाकर्मी पूरे मुस्तैद दिखाई दिए और जांच के बाद ही लोगों को अंदर जाने दिए।
फोस्टा कार्यालय वाले जेजे टैक्सटाइल मार्केट में भी सोमवार को कोविड-19 की गाइडलाइन के प्रति मुस्तैदी देखने को मिली। मार्केट के एंट्री व एक्जिट गेट पर सभी आने-जाने वालों की थर्मलगन से टेम्प्रेचर जांच की जा रही थी।
श्रीसालासर हनुमान मार्ग पर अभिषेक टैक्सटाइल मार्केट में भी शुक्रवार को जहां कोविड-19 की गाइडलाइन के प्रति सुस्ती दिख रही थी वो सोमवार को टूटी हुई नजर आई। गेट के पास सुरक्षाकर्मी लोगों को सेनेटाइजर से हाथ साफ कराने व थर्मलगन से टेम्प्रेचर जांच के बाद ही अंदर प्रवेश दे रहे थे।

Dinesh Bhardwaj Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned