मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों ने किया विरोध प्रदर्शन

मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों ने किया विरोध प्रदर्शन

Sanjeev Kumar Singh | Updated: 14 Jun 2019, 10:50:34 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, सूरत ने सोमवार को 24 घंटे हड़ताल का एलान किया

सूरत.

पश्चिम बंगाल में रेजिडेंट के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद देशभर के मेडिकल कॉलेज में पढऩे वाले विद्यार्थी उनके समर्थन में आ गए हंै। सूरत गर्वमेंट मेडिकल कॉलेज और स्मीमेर अस्पताल के चिकित्सकों ने शुक्रवार को हड़ताल का समर्थन करते हुए दो घंटे विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने मारपीट की घटना में न्याय की मांग की है।

 

पश्चिम बंगाल में जूनियर चिकित्सकों के साथ हुई मारपीट की घटना के बाद देश के अलग-अलग राज्यों के मेडिकल कॉलेज समर्थन में विरोध कर रहे हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, नई दिल्ली ने भी हड़ताल का समर्थन किया है। उन्होंने देश के सभी मेडिकल कॉलेज में पढऩे वाले मेडिकल कॉलेज के विद्यार्थियों को पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करवाने की मांग करते हुए शुक्रवार को देश के सभी मेडिकल कॉलेज से दो घंटे विरोध प्रदर्शन करने के लिए कहा था। इसके बाद शुक्रवार को सूरत गर्वमेंट मेडिकल कॉलेज तथा स्मीमेर अस्पताल में जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन ने हड़ताल के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया।

 

मेडिकल कॉलेज के छात्र सुबह कॉलेज कैन्टिन के नजदीक हाथों में बैनर व पोस्टर लेकर जमा हुए और पश्चिम बंगाल में मेडिकल विद्यार्थियों के साथ हो रहे दुव्र्यवहार को खत्म करने तथा न्याय की मांग की। जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष आकाश पटेल ने बताया कि दो दिन पहले एनआरएस मेडिकल कॉलेज कोलकाता में 85 वर्षीय वृद्ध की इलाज के दौरान हार्ट अटैक से मौत हुई थी। इस मामले में परिजनों ने चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए करीब दो सौ जनों ने दो रेजिडेंट के साथ मारपीट की थी।


सूरत आइएमए ने भी किया विरोध

पश्चिम बंगाल में रेजिडेंट के साथ हुई मारपीट की घटना का विरोध करते हुए शुक्रवार को आइएमए सूरत शाखा के अध्यक्ष डॉ. गिरीश मोदी, उपाध्यक्ष डॉ. पारूल वडगामा, सचिव डॉ. मधुसूदन उमाजी, डॉ. विनेश शाह, डॉ. हिरेन मकवाणा समेत अन्य सदस्यगण विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। उन्होंने हड़ताल का समर्थन करते हुए त्वरित न्याय देने की मांग की है।

 

रूटीन इलाज नहीं, इमरजेंसी चालू

पश्चिम बंगाल में रेजिडेंट के साथ हुई मारपीट मामले में सूरत इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने 17 जून को 24 घंटे काम से दूर रहने का निर्णय किया है। एसोसिएशन ने बताया कि उनके साथ 34 सौ चिकित्सक सदस्य हैं। यह सभी चिकित्सक सोमवार को 24 घंटे सामान्य मरीजों को नहीं देखेंगे। इमरजेंसी मरीज के लिए सभी प्रकार का इलाज उपलब्ध रहेगा। गर्वमेंट मेडिकल कॉलेज और स्मीमेर अस्पताल इसमें शामिल होंगे या नहीं, इस पर निर्णय होना अभी बाकी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned