मासूम की पहचान में जुटे व्यापारी

पांडेसरा-जियाव में पिछले दिनों बरामद बालिका के शव की शिनाख्त में शहर व राज्य की पुलिस ही नहीं अब कपड़ा व्यापारी भी सक्रिय हो गए हंै। उन्होंने....

By: मुकेश शर्मा

Published: 25 Apr 2018, 09:56 PM IST

सूरत।पांडेसरा-जियाव में पिछले दिनों बरामद बालिका के शव की शिनाख्त में शहर व राज्य की पुलिस ही नहीं अब कपड़ा व्यापारी भी सक्रिय हो गए हंै। उन्होंने अपने प्रयास सूरत तक ही सीमित नहीं रखे हंै ,बल्कि कपड़ा कारोबार के माध्यम से देशभर की कपड़ा मंडियों तक पहुंचाने की कोशिश की है।

कपड़ा बाजार के व्यापारियों के संगठन सेवा फाउंडेशन ने दुष्कर्म व नृशंष हत्या की शिकार बनी मृत बालिका की पहचान के लिए प्रयास शुरू किए हैं। इस सिलसिले में सेवा फाउंडेशन का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को सूरत क्राइम ब्रांच के प्रभारी बीएन दवे से मिला और बालिका की पहचान की दिशा में सहयोग का प्रस्ताव सौंपा।

स्वीकृति के बाद फाउंडेशन से जुड़े व्यापारियों को बालिका के फोटो मुहैया कराए गए और उन्हें बाद में साड़ी-ड्रेस के पार्सल के साथ उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखंड, उड़ीसा की दर्जनों कपड़ा मंडियों में भेजा जा रहा है। संस्था ने स्वीकृति के बाद पहले दिन सोमवार को रघुकुल टैक्सटाइल मार्केट के दर्जनों कपड़ा व्यापारियों के माध्यम से बालिका की पहचान के उद्देश्य से यह कार्य किया।

हजारों लोगों तक पहुंचेगी

सेवा फाउंडेशन की ओर से बालिका की पहचान के उद्देश्य से देश के चार बड़े राज्यों में भेजी जा रही तस्वीर हजारों लोगों तक पहुंचेगी। उत्तरप्रदेश, बिहार, झारखण्ड, उड़ीसा राज्य में दर्जनों बड़ी कपड़ा मंडियां हैं, जहां से बाद में अन्य शहर-कस्बे ही नहीं बल्कि गांव-देहात में भी साड़ी-ड्रेस का माल पहुंचता है। सूरत से भेजे जा रहे तैयार साड़ी-ड्रेस के पार्सल के प्रत्येक चार-चार बंडल में बालिका की तस्वीर कपड़ा व्यापारियों ने रखी है, ताकि वो ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाई जा सके और उसकी जल्द पहचान हो पाए। इतना ही नहीं स्थानीय कपड़ा व्यापारियों ने इस बारे में पार्सल खरीदने वाले बाहरी मंडियों के व्यापारियों को भी जानकारी दी है।

फांसी लगाकर आत्महत्या की

चौर्यासी तहसील में हजीरा जूना गांव के पास मंदिर फलिया निवासी बिनोद मुंडा ने रविवार को हजीरा में एलएंडटी कंपनी जाने वाले रोड पर किनारे में लगे इलेक्ट्रिक टावर के एंगल से चादर बांधकर फांसी लगा ली। स्थानीय लोगों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्टमार्टम के लिए न्यू सिविल अस्पताल लेकर आई। पुलिस ने बताया कि बिनोद सूरत में अकेले रहता था। उसके माता-पिता को गांव में घटना की सूचना दे दी गई है। वह हजीरा के निजी कंपनी में नौकरी करता था।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned