केन्द्रीय मंत्री ने अंडरपास का किया भूमिपूजन

34.51 करोड़ की लागत से बनेंगे तीन अंडरपास

By: विनीत शर्मा

Published: 10 Feb 2018, 09:41 PM IST

खेरगाम. केन्द्रीय परिवहन एवं शिपिंग विभाग के राज्यमंत्री मनसुख मांडविया ने शनिवार को चिखली के पास मलवाड मे राष्ट्रीय राजमार्ग 48 पर 34.51 करोड़ के खर्च से तैयार होने वाले तीन अंडरब्रिज का भूमिपूजन किया।


इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश विकास की ओर बढ रहा है और बदल रहा है। जानकारी के अनुसार मलवाड में 10.11 करोड़, वलसाड के सोनवाडा मे ं10.11 करोड़ तथा खड़की मे 11.34 करोड़ की लागत से हाईवे अंडरपास बनेगा। जिससे लोग सुरक्षित हाईवे पार कर सकेंगे।


मलवाड में भूमिपूजन के बाद आयोजित समारोह में केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार सभी समस्याओं के समाधान को प्रयत्नशील है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की मांग पर जनसमस्याओं को दूर करने के लिए यह कार्य किया गया है। मनसुख मांडविया ने कहा कि सच्चे लोकप्रहरी वही है तो क्षेत्रीय जनता की समस्या को दूर करने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा देश के गांव गांव तक यातायात के लिए सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।


उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा प्रतिदिन 28 किमी नेशनल हाईवे का निर्माण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में इमानदार सरकार विकास के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। इस दौरान उन्होंने कई योजनाओं का उल्लेख करते हुए सरकार को जनहित में काम करने वाली बताया। इस मौके पर उपस्थित नवसारी सांसद सीआर पाटील ने कहा कि दिल्ली मुंबई नेशनल हाईवे सबसे ज्यादा व्यस्त हाईवे है। उन्होंने अंडरपास की मंजूरी और भूमिपूजन के लिए मंत्री का आभार प्रकट किया। इस दौरान वलसाड सांसद केसी पटेल, नवसारी विधायक पियुष देसाई, गणदेवी विधायक नरेश पटेल, इंचार्ज कलक्टर तुषार सुमेरा, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय अधिकारी आशुतोष गौतम भी उपस्थित थे।

रक्त की कमी को पूरा करने पर जोर


वापी में वन मंत्री रमण पाटकर ने कहा कि किसी के जीवन को बचाने में सहभागी होना सौभाग्य की बात है और इसके लिए रक्तदान से अच्छा कोई दूसरा माध्यम नहीं है। पाटकर शनिवार शाम को बेस्ट पेपरमिल और जीपीसीबी की ओर से वीआईए में आयोजित रक्तदान शिविर के समापन समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को रक्तदान के प्रति जागरुक कर ब्लड बैंकों में रक्त की कमी को पूरा करने पर जोर देना चाहिए। राज्य के पंचायती राज मंत्री जयद्रथ सिंह परमार ने रक्तदान को उत्तम दान बताया और कहा कि रक्त का निर्माण किसी लैब में नहीं सकता। वह किसी के दान से ही किसी को प्राप्त होता है और व्यक्ति की जीवन बचाया जा सकता है। शिविर में 1051 यूनिट रक्त संग्रह किया गया था। इस अवसर पर रक्तदान शिविर के माध्यम से लोगों के रक्त उपलब्ध करने वाली विविध संस्थाओं वीआईए, आरती ग्रुप, गुजरात पेपरमिल एसोसिएशन, डोम्स पेन्सिल, एनआर ग्रुप आफ कंपनीज, अतुल इंडस्ट्रीज, उत्तर भारतीय सेवा ट्रस्ट, वेलस्पन टेरीटोवल्स, राजस्थान प्रगति मंडल समेत अन्य संस्थाओं का सम्मान भी किया गया।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned