लॉकडाउन में कहीं नहीं दिखे सांसद और विधायक

लोग कर रहे शिकायत
कोरोना महामारी


People are complaining
Corona epidemic

By: Sunil Mishra

Published: 29 Mar 2020, 07:09 PM IST

वलसाड. लॉकडाउन में जिला प्रशासन और पुलिस के अलावा सामाजिक संस्थाएं भी लोगों की मदद में जुटी हैं। लेकिन अभी तक सांसद और विधायक लोगों के बीच नहीं दिखे। लॉकडाउन के चलते काम धंधा बंद होने के कारण मजदूरों और गरीब वर्ग के लिए परेशानी खड़ी हो गई है। ऐसे लोगों को सामाजिक संस्थाओं द्वारा खाने का सामान और फूड पैकेट समेत अन्य जरूरत का सामान दिया जा रहा है। प्रशासन भी लोगों की मदद में जुटा है, लेकिन सांसद केसी पटेल और विधायक भरत पटेल अभी तक लोगों की मदद के लिए कहीं नहीं दिखे। चुनाव में घर-घर जाने वाले नेता मुसीबत के दिनों में लापता हैं। सांसद और विधायक द्वारा न तो कोई सहायता की घोषणा की गई और न अस्पताल की सुविधाओं का जायजा लिया। लोगों में चर्चा है कि सूरत और नवसारी के सांसदों ने बड़ी सहायता राशि अस्पतालों में दी और फंसे हुए लोगों को उनके राज्य तक भेजने में भी सहायता की, लेकिन यहां के जनप्रतिनिधियों ने कुछ नहीं किया।

लॉकडाउन में कहीं नहीं दिखे सांसद और विधायक

घरों से बाहर निकले तो होगी कार्रवाई: पुलिस अधीक्षक
वलसाड. पूरे विश्व में कोरोना की महामारी ने हाहाकार मचा रखा है। लोगों को इसके संक्रमण से बचाने के लिए देशभर में लॉकडाउन घोषित कर लोगों को घरों में ही रहने की ताकीद की गई है।
वलसाड में कोरोना के संक्रमण से लोगों को बचाने के लिए पुलिस ने सब्जी मंडी भी बंद करवा दी और लोगों के घरों तक सब्जी उपलब्ध कराने की व्यवस्था शुरू की है। दूसरी तरफ लॉकडाउन में भी लोग बेवजह सड़कों पर निकल रहे हैं। इनके खिलाफ द्वारा कार्रवाई भी की जा रही है, लेकिन लोगों का बाहर निकलना बंद नहीं हो रहा है। इसे देखते हुए पुलिस अधीक्षक ने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी देते हुए कहा है कि ऐसा करने वालों को जेल भी जाना पड़ सकता है। वहीं, सिटी पुलिस ने सड़कों पर निकले 20 से ज्यादा लोगों को मेमो थमाया और गाडिय़ां भी जब्त की। सिटी पीआई भट्ट ने कहा कि पुलिस टीम पूरे दिन पेट्रोलिंग पर रहती है। वाहन लेकर निकलने वाले ज्यादातर लोग डॉक्टर की फाइल दिखाते हैं, लेकिन जांच के दौरान कई लोगों की फाइल दो साल पुरानी निकली। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए वाहन जब्त किया गया है। वहीं गुंदलाव हाइवे पर पुलिस ने मुंबई से राजस्थान जा रहे कई लोगों के वाहन जब्त कर आरटीओ का मेमो थमा दिया। इसके कारण वाहन मालिकों को सोमवार तक वलसाड में ही रुकना पड़ेगा। वहीं, आरटीओ मेमो जमा करने वालों को 14 अप्रेल तक आरटीओ कार्यालय के खुलने का इंतजार करना पड़ेगा।

Corona virus
Sunil Mishra Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned