छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में राष्ट्रीय आदिवासी आयोग हरकत में आया

छात्राओं से छेड़छाड़ के मामले में राष्ट्रीय आदिवासी आयोग हरकत में आया

Sanjeev Kumar Singh | Publish: Sep, 11 2018 07:59:49 PM (IST) Surat, Gujarat, India

आयोग के सदस्य ने की अधिकारियों के साथ बैठक

बैठक में गरुडेश्वर आश्रम स्कूल की घटना पर भी चर्चा

स्कूली छात्राओं की सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश

नर्मदा.

जिले के गरुडेश्वर में दयानंद सरस्वती आश्रम स्कूल में अध्यापक की ओर से चार छात्राओं के साथ की गई छेड़छाड़ की घटना को राष्ट्रीय आदिवासी आयोग ने गंभीरता से लिया है। इस मामले को लेकर राष्ट्रीय अनूसूचित जनजाति आयोग के सदस्य हर्षद वसावा की अध्यक्षता में मंगलवार को राजपीपला के लाल टावर स्थित विश्राम गृह में जिले के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक हुई। उन्होंने जिले के सभी स्कूलों और सभी आश्रम स्कूलों में बालिकाओं की सुरक्षा बढ़ाने के लिए एक्शन प्लान बनाने तथा आवश्यक काार्रवाई को लेकर अधिकारियों को निर्देश दिया। बैठक में जिला कलक्टर आर.एस. निनामा, जिला विकास अधिकारी जिन्सी विलियम, एसपी महेन्द्र बगडिया सहित संबंधित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

बैठक में उन्होने जिले के प्राथमिक, माध्यमिक और उच्चत्तर माध्यमिक स्कूलों के साथ कॉलेजो, छात्रावासों, आश्रम स्कूलों, एकलव्य मॉडल स्कूलों में खासकर छात्राओं की सुरक्षा की दृष्टि से एक्शन प्लान बनाने तथा उसका तत्काल अमल कराने का निर्देश दिया। हर्षद वसावा ने कहा कि बालिकाओं की सुरक्षा में किसी भी प्रकार की चूक को आगे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने गरुडेश्वर मामले पर भी पुलिस अधिकारियों के साथ चर्चा कर प्रगति रिपोर्ट की जानकारी प्राप्त की। दयानंद सरस्वती आश्रम स्कूल में अध्यापक की ओर से चार छात्राओं के साथ की गई छेड़छाड़ की घटना को राष्ट्रीय आदिवासी आयोग ने गंभीरता से लिया है।

 


पर्यटन स्थलों पर बढ़ाई जाएगी सुविधा
राष्ट्रीय आदिवासी आयोग के सदस्य हर्षद वसावा ने कहा कि जिले के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर पर्यटकों के लिए सुविधा बढ़ाई जाएगी। उन्होंने राजस्थान पत्रिका से बातचीत कहा कि झरवाणी झरने के पास चेकडेम बनाकर पर्यटकों को आकर्षिक किया जाएगा और यहा निर्धारित समय में थोड़ा-थोड़ा पानी छोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि जूनाराज इलाके में गुलाब की बगिया बनाई जाएगी और क्षेत्र क ा सौन्दर्यीकरण कर स्थानीय लोगों को रोजगार मिलेगा, इसके साथ-साथ स्वीमिंग पूल भी बनाया जाएगा। जिले के पर्यटन स्थल जूनाराज, सगाई, मालसामोट, निनाई, विशालखाडी, देवमोगरा में रंग-बिरंगे जंगली फूलों को लगाया जाएगा।

Ad Block is Banned