लापरवाही ने बिगाड़ दिया युवक का आधार

22 साल के युवक की आधार कार्ड में बता दी 122 साल की उम्र, कहीं मान्य नहीं हो रहा आधारकार्ड

By: विनीत शर्मा

Published: 15 Sep 2020, 06:51 PM IST

बारडोली. सरकारी मशीनरी या तो दबाव में है या पहले से परेशान लोगों की जिंदगी में परेशानियां बढ़ा रही है। इसका अंदाजा लगाए बगैर कि उनकी यह लापरवाही आम आदमी पर कितनी भारी पड़ रही है। ऐसी ही एक लापरवाही ने 22 साल के युवक को आधार कार्ड में 122 साल का दिखाकर उसका आधार बिगाड़ दिया। युवक को जहां भी आधार कार्ड देना था, सरकारी एजेंसियां ही अब उस आधार कार्ड को अमान्य ठहरा रही हैं।

मामला बारडोली के मढ़ी गांव का है। गांव के बेड़ी फलिया निवासी यतिन बालू चौधरी ने कुछ साल पहले आधारकार्ड केंद्र पर जाकर अपना आधार कार्ड बनवाया था। इस समय आधार कार्ड के ऑपरेटर की लापरवाही की वजह से उसकी जन्मतिथि रिकॉर्ड में 22 जुलाई वर्ष 1998 की जगह वर्ष 1898 दर्ज हो गया। इस वजह से उसकी उम्र में सीधे सौ साल का इजाफा हो गया। अन्य दस्तावेज़ से आधार कार्ड की जन्मतिथि अलग होने के कारण उसके सभी काम अटक गए हैं। जिन सरकारी दफ्तरों में उसे आधारकार्ड देना था, वही एजेंसियां इस कार्ड को अमान्य ठहरा रही हैं। इस वजह से उसका न तो बैंक खाला खुल पा रहा है और न सरकार से मिलने वाली सहायता का लाभ ही उसे मिल पा रहा। नौकरी मिलने में भी यह आधारकार्ड उसके लिए मुश्किलें खड़ी कर रहा है।

युवक इन परेशानियों से आजिज आकर वह मंगलवार को बारडोली नगरपालिका कार्यालय में कार्यरत आधार केंद्र पर जन्मतिथि मे सुधार करवाने के लिए पहुंचा। यहां मौजूद स्टाफ ने उसे मुम्बई जाकर सुधार कराने के लिए कहा दिया। मौजूदा हालात में मुंबई जाना इतना आसान भी नहीं है। युवक ने कहा भी कि वह मुम्बई जाने की स्थिति में नहीं है, लेकिन कोई उसकी बात सुनने को भी तैयार नहीं।

विनीत शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned