न्यूजीलैंड टूर पर हंगामा

न्यूजीलैंड टूर पर हंगामा
surat

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Jun, 29 2016 11:51:00 PM (IST) Surat, Gujarat, India

मनपा की सामान्य सभा में बुधवार को सत्ता पक्ष के पदाधिकारियों का न्यूजीलैंड टूर विवाद का कारण बन गया।

सूरत।मनपा की सामान्य सभा में बुधवार को सत्ता पक्ष के पदाधिकारियों का न्यूजीलैंड टूर विवाद का कारण बन गया। विपक्षी सदस्यों ने पुरजोर विरोध करते हुए टूर रद्द करने की मांग की। इसे अमान्य करते हुए महापौर अस्मिता शिरोया ने बहुमत के आधार पर मंजूरी दे दी। सभा में लालगेट के समीप डिमोलिशन पर भी विपक्षी सदस्यों ने हंगामा किया।
महीने में एक बार होने वाली सामान्य सभा में इस बार जनता की बुनियादी सुविधाएं से संबंधित चर्चा नहीं हो पाई।


 दो-तीन मुद्दों पर ही सामान्य सभा पूरी हो गई। सभा की शुरुआत में कांग्रेस पार्षद दिनेश काछडिय़ा ने लाल गेट के समीप पालिका की ओर से हुए डिमोलिशन का विरोध किया। उन्होंने सेंट्रल जोन के अधिकारी देवाशीष बसाक का उल्लेख करते हुए कहा कि अधिकारी अपनी मनमानी करता है। बारिश से पहले लोगों के घर तोड़कर उन्हेें बेघर कर दिया गया।

उन्होंने आरोप लगाया कि एक हॉस्पिटल को फायदा पहुंचाने के लिए यह कार्रवाई की गई है। मामले में बचाव करते हुए स्थाई समिति अध्यक्ष राजेश देसाई ने पालिका की ओर से पारित प्रस्तावों का हवाला देते हुए कहा कि सड़क की चौड़ाई 30 फीट और 40 फीट की गई है, जिसके अनुसार ही कार्रवाई हुई है। मामले में सत्ता पक्ष की ओर से डॉ. जगदीश पटेल ने भी कहा कि सभी कार्रवाई नियमानुसार हुई है और यदि किसी के साथ अन्याय हुआ है तो वह मुआवजा संबंधी किसी भी प्रस्ताव का समर्थन करेंगे। मामले में असंतुष्ट कांग्रेस पार्षद दिनेश काछडिय़ा एक अखबार लेकर महापौर के सामने आ गए और विरोध करने लगे। किसी तरह मामला शांत हुआ।

आरक्षित जमीन का पालिका को पता नहीं

आंजणा में स्लम रि-डेवपलमेंट के इन सीटू प्रोग्राम के तहत 14 झोपड़पट्टियों में से एक का नाम हटाने पर कांग्रेस पार्षद असलम साइकिलवाला ने सत्ता पक्ष को घेरा। असलम ने कहा कि पालिका ने टीपी सात आंजणा एफपी 186 के नवी कॉलोनी पदमानगर, बाखड मोहल्लो को इन सीटू प्रोग्राम में शामिल करने के बाद हटा क्यों लिया। सवाल का जवाब देते मनपा आयुक्त मिलिंद तोरवणे ने कहा कि इस जगह को पालिका ने मल्टीपरपस ओपन स्पेस के रूप में आरक्षित किया है, इस वजह से इसे स्कीम में शामिल नहीं किया है। इस पर असलम ने कहा कि अधिकारियों को क्या इसकी पहले से खबर नहीं थी। इस पर आयुक्त कुछ नहीं बोल सके।

हंगामे के बीच पूरी हुई सभा

स्मार्ट सिटी को लेकर पालिका में सत्ता पक्ष के पदाधिकारियों के न्यूजीलैंड प्रवास का प्रस्ताव सभा में बहुमत से मंजूर कर लिया गया। प्रस्ताव पर चर्चा की मांग कर रहे विपक्ष को महापौर ने पांच मिनट की मंजूरी दी, लेकिन विपक्ष इस पर विस्तार से चर्चा की मांग कर रहा था। विपक्षी पार्षद भूपेन्द्र सोलंकी ने कहा कि विपक्ष इसका सख्त विरोध करता है। उन्होंने कहा कि वह पिछले छह टर्म से पार्षद होते हुए भी कभी जनता के पैसे से दूसरे शहर के प्रवास पर नहीं गए। देर तक गर्मागर्म बहस के बाद महापौर ने वोटिंग के आधार पर प्रस्ताव को मंजूरी दी। इसके बाद एजेंडे के कामों को एक साथ मंजूरी दे दी गई। हंगामे के बीच ही महापौर ने सभा को अनिश्चितकाल के लिए मुल्तवी कर दिया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned