मीठीखाड़ी की बस्तियों में पटरी पर लौट रही जिंदगी

मीठीखाड़ी की बस्तियों में पटरी पर लौट रही जिंदगी

Dinesh M.Trivedi | Updated: 08 Aug 2019, 09:16:23 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

surat news:
- प्रशासन जागा, शुरू हुई सफाई, कीटनाशकों का भी छिडक़ाव

सूरत. मीठीखाड़ी क्षेत्र की बस्तियों में चार दिनों तक करीब चार फीट जलजमाव के बीच घरों में कैद रही दस हजार से अधिक लोगों की जिंदगी बुधवार को पटरी पर लौटती हुई नजर आई। पानी और कीचड़ की सफाई हुई और जगह-जगह कीटनाशकों का छिडक़ाव भी किया गया। साफ-सफाई के बाद गलियों में लोगों की आवाजाही देखने को मिली।
गत दिनों शहर में भारी बारिश होने से मीठीखाड़ी क्षेत्र की इस्लामचौक, रावनगर, बैठी कॉलोनी, रजानगर समेत अन्य बस्तियों की गलियों और घरों में चार फीट तक पानी भर गया था। दस हजार से अधिक लोग अपने ही घरों में कैैद हो गए थे। चार दिन और तीन रातें उन्हें गटर के बदबूदार पानी में गुजारनी पड़ी थी। लगातार पानी में रहने से कई लोगों के पैरों में छाले पड़ गए थे। कई लोगों को खुजली और चमड़ी से जुड़े रोग हो गए थे। मंगलवार को पानी उतरने के बाद भी मनपा के साफ सफाई में ढिलाई बरतने के कारण उनकी मुश्किलें और बढ़ गई थी। राजस्थान पत्रिका में मनपा के कोताही बरतने की खबर प्रकाशित होने के बाद मनपा प्रशासन ने बुधवार को कुछ तेजी दिख्राई। बुधवार को सुबह से दो बुलडोजर एवं ट्रैक्टरों की मदद से मनपाकर्मी सफाई में जुट गए। घरों की सफाई से निकले कचरे को हटाने के लिए गाडिय़ों को भी काम में लगाया गया। गलियों की सफाई के बाद मनपा के स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों द्वारा कीटनाशकों का भी छिडक़ाव किया गया। मच्छरों के पनपने की आशंका के चलते फोगिंग भी की गई। मनपा कर्मियों की मदद से लोगों ने मंदिर और मस्जिद में भी सफाई की।


सफाई कर्मियों की संख्या अपर्याप्त


वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि बुधवार को मनपा प्रशासन ने कुछ तेजी दिखाई, लेकिन सफाई कर्मियों की संख्या कम होने के कारण काम पूरा नहीं हो पाया। अभी भी गलियों में कचरे के ढेर लगे हंै जिन पर कीटनाशक तो छिडक़ दिए गए हैं,लेकिन उन्हें हटाया नहीं गया है। मनपाकर्मियों का कहना है कि उन्हें गुरुवार को हटाया जाएगा। इलाके की सीवरेज लाइनों की सफाई नहीं हुई है। लाइनों में कचरा जमा है जो बारिश होने पर फिर से पूर्ववत स्थिति पैदा कर सकता है। वहीं मनपाकर्मियों का कहना है कि सीवरेज लाइन की भी जल्द सफाई की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned